नीतीश कुमार से आवास पर जाकर मिले बीजेपी विधान पार्षद अवधेश नारायण

पटना : बिहार विधान परिषद चुनाव की चार सीटों के लिए गत 9 मार्च को हुए चुनाव में प्रदेश में सत्ताधारी जदयू दो सीटों और राजग में शामिल भाजपा एवं रालोसपा ने एक-एक सीट विजयी रहे. बिहार में सत्ताधारी महागठबंधन में शामिल कांग्रेस ने राजद प्रत्याशी के खिलाफ दो उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारे थे और इन प्रत्याशियों को इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा. बिहार विधान परिषद के वर्तमान सभापति अवधेश नारायण सिंह ने इस चुनाव में जीत दर्ज करने पर पटना के एक अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास जाकर उनसे मुलाकात करने पर मुख्यमंत्री ने उन्हें बधाई दी.

गया स्नातक क्षेत्र से राजद उम्मीदवार पुनीत सिंह और कांग्रेस के अजय सिंह को पराजित कर भाजपा उम्मीदवार अवधेश नारायण सिंह अपनी सीट बरकार रखने में कामयाब रहे. गया शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से राजग के घटक दल रालोसपा के संजीव श्याम सिंह राजद और कांग्रेस उम्मीदवारों को हराकर विजयी रहे. जदयू ने सारण स्नातक क्षेत्र से वीरेंद्र नारायण यादव और कोसी शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र से संजीव कुमार सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया था और दोनों इस चुनाव में विजयी रहे.

 महागठबंधन में दरार की खबर

मीडिया में आयी रिपोर्ट के अनुसार अवधेश कुमार सिंह की जीत ने महागठबंधन में फिर से दरार पैदा कर दी है, क्योंकि जदयू बिहार विधानमंडल के उच्च सदन के सभापति पद पर सिंह को आगे बनाए रखने का पक्षधर है. वहीं, लालू प्रसाद का राजद इस कुर्सी पर अपने पार्टी के किसी सदस्य को आसीन करना चाहते हैं. पूर्व मुख्यमंत्री राबडी देवी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान उच्च सदन के सभापति के तौर पर उनकी पार्टी के किसी सदस्य को चुने जाने की बात कही थी हालांकि, मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि राजद द्वारा राबडी के नाम पर मुहर लगायी जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *