रिलायंस जियो के लिए किये गये सर्वे में हुआ खुलासा

एक बड़ी रिसर्च और ब्रोकरेज कंपनी बर्नस्टेन की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया गया है, कि अभी तक मुफ्त कॉलिंग और फ्री डेटा का फायदा उठा रहे कस्टमर्स आगे भी जियो के साथ जुड़ा रहना चाहते है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि कई लोग ने जियो के फ्री ऑफर को सराहा है, लेकिन वॉयस क्वालिटी को लेकर आलोचना कर रहे हैं. कई लोग फ्री ऑफर खत्म होने के बाद अपने प्राइमरी ऑपरेटर के पास लौट जाएंगे. जो हम देख रहे हैं वह इसके उलट है.

क्या कहता है सर्वे…

– सर्वे में यह भी बताया कि क्यों यूजर्स जियो के साथ रहने का फैसला करेंगे और प्रति माह 303 रुपए का पेमेंट करेंगे.

– मौजूदा 67 फीसदी यूजर्स ने जियो सिम को ‘सेकंडरी’ रखा हुआ है.

– इसमें से 63 फीसदी यूजर्स ने कहा है कि वह जियो को नया प्राइमरी ऑपरटेर बनाने की योजना बना रहे हैं.

– 28 फीसदी यूजर्स ने कहा कि वह जियो को सेकंड सिम के तौर पर यूज करते रखेंगे.

– सिर्फ 2 फीसदी मौजूदा जियो यूजर्स ने कहा है कि वह अपनी सिम छोड़ देंगे.

जियो को लोग इसलिए कर रहे है पसंद…

– रिपोर्ट में कहा गया है कि कस्टमर लॉयल्टी के मामले में जियो का स्कोर सबसे ज्यादा है.

– इसमें कस्टमर सर्विस, सहूलियत, डाटा कवरेज, डाटा स्पीड और हैंडसेट चुनने की च्वाइस दूसरों से बेहतर है.

– इतना ही नहीं, जियो ने वॉयस क्वालिटी और वॉयस कवरेज में वोडाफोन और आइडिया को पीछे छोड़ दिया है.

4G नेटवर्क वाले यूजर्स को भाता है सिर्फ जियो…

– रिपोर्ट में कहा गया है कि ज्यादातर 2जी या 3जी यूजर्स सैंपल टेस्ट के बाद 4जी पर अगले साल तक अपग्रेड

होंगे और उसमें से 80 फीसदी का कहना है कि जब वह ऐसा करेंगे तो वह जियो को पहली पंसद पर रखेंगे.