उत्तेजक है आरएसएस का राष्ट्रवाद: भूपेश बघेल

Last Updated on

रायपुर
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने भारतीय जनता पार्टी () और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ () के को उत्तेजक राष्ट्रवाद बताया है। उन्होंने यह भी कहा कि इस देश में गांधी का ही राष्ट्रवाद बचेगा क्योंकि उसमें असहमति का भी सम्मान है। उन्होंने यह भी कहा कि संघ के राष्ट्रवाद में विरोधी विचार वाले को देशद्रोही बता दिया जाता है।

छत्तीसगढ़ में गांधी के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने और ग्राम स्वराज के संकल्प को आगे बढ़ाने के मकसद को लेकर राज्य सरकार गांधी विचार यात्रा निकाली रही है। इस यात्रा का गुरुवार को रायपुर में समापन होगा। यात्रा के समापन दिवस की पूर्व संध्या पर भूपेश बघेल ने कहा, ‘गांधी का राष्ट्रवाद वह है, जिसमें असहमति को भी सम्मान है लेकिन संघ और बीजेपी का राष्ट्रवाद उत्तेजक राष्ट्रवाद है। संघ के राष्ट्रवाद में जो भी व्यक्ति अपने विचार व्यक्त करता है या विरोध में विचार रखता है, उसे देशद्रोही करार दे दिया जाता है।’

‘आखिर में सिर्फ गांधी का राष्ट्रवाद बचेगा’
मुख्यमंत्री से जब पूछा गया कि गांधी के राष्ट्रवाद और संघ के राष्ट्रवाद में जो टकराव की स्थिति बन रही है, उसमें गांधी के राष्ट्रवाद को छत्तीसगढ़ में कैसे स्थापित कर पाएंगे। इस पर उन्होंने कहा, ‘महात्मा गांधी का राष्ट्रवाद रचा बसा है छत्तीसगढ़ के जनजीवन और देश के जनजीवन में। गांधी के राष्ट्रवाद में असहमति का भी सम्मान है लेकिन संघ का राष्ट्रवाद उत्तेजक राष्ट्रवाद है।’

जब उनसे पूछा गया तो क्या गांधी का राष्ट्रवाद बचेगा, इस पर बघेल ने कहा, ‘देश में गांधी का ही राष्ट्रवाद बचेगा क्योंकि वह ऐसा राष्ट्रवाद है, जो सभी तरह के विचारक, ऋषि-मुनियों और असहमति रखने वालों के विचारों को भी साथ लेकर चलता है, उनका सम्मान करता है।’ बघेल से पूछा गया कि संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है, ‘मॉब लिंचिंग विदेशी शब्द है और इससे देश बदनाम हो रहा है।’ इसे भूपेश बघेल ने भी सही ठहराया लेकिन साथ ही में प्रतिप्रश्न किया, ‘भागवत बताएं कि उनका राष्ट्रवाद किसका है। क्या देश का राष्ट्रवाद है या यह जर्मनी या इटली का है। उनका राष्ट्रवाद हिटलर और मुसोलिनी से प्रभावित है या नहीं है। सवाल इस बात का है।’

Source: National

Leave a Reply