भारतीय मूल के अभिजीत को पत्नी संग नोबेल

ओस्लो
भारतीय मूल के और उनकी पत्नी एस्तेय डिफ्लो को अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उनके साथ संयुक्त रूप से माइकल क्रेमर को भी यह सम्मान देने की घोषणा की गई है। तीनों अर्थशास्त्रियों को ‘वैश्विक गरीबी खत्म करने के प्रयोग’ के उनके शोध के लिए सम्मानित किया गया है। इकनॉमिक साइंसेज कैटिगरी के तहत यह सम्मान पाने वाले अभिजीत बनर्जी भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक हैं।

फिलहाल वह मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी में इकनॉमिक्स के प्रफेसर हैं। वह और उनकी पत्नी डिफ्लो अब्दुल लतीफ जमील पॉवर्टी ऐक्शन लैब के को-फाउंडर हैं। आपको बता दें कि बनर्जी ने 1981 में कोलकाता यूनिवर्सिटी से बीएससी किया था, जबकि 1983 में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी से एमए किया था। इसके बाद उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से 1988 में पीएचडी की थी।

यह भी पढ़ें:

नोबेल कमिटी बोली, रिसर्च से गरीबी से निपटने में मदद
नोबेल कमिटी ने अपने बयान में कहा है कि उनकी रिसर्च से वैश्विक गरीबी से निपटने में अहम मदद मिली है। बीते दो दशकों में उनकी प्रयोग आधारित अप्रोच से डिवेलपमेंट इकनॉमिक्स में बड़ा बदलाव आया है। इससे रिसर्च के फील्ड में नई प्रगति आई है।

Source: National

Leave a Reply