इन चीजों के बिना अधूरी है Karwa Chauth की सरगी थाली

Last Updated on

का त्योहार पति-पत्नी के बीच आपसी प्यार और समझ को बढ़ाने वाला माना जाता है। इस दौरान सुहागिन महिलाएं पति की लंबी उम्र की कामना के साथ दिनभर निर्जल व्रत रखती हैं, पानी तक नहीं पीतीं और रात में चांद देखकर चंद्रमा की पूजा के बाद ही अपना व्रत खोलती हैं। इस साल करवा चौथ का त्योहार 17 अक्टूबर गुरुवार को है। अगर आप भी करवा चौथ का व्रत रखती आयी हैं तो आप तो से वाकिफ होंगी। लेकिन अगर आपका यह पहला करवा चौथ है तो हम आपको बता रहे हैं कि आखिर सरगी की पारंपरिक थाली में कौन-कौन सी चीजें होती हैं…

आखिर क्या है सरगी?
करवा चौथ का व्रत सुबह सूर्योदय से लेकर राच में चंद्रोदय तक रखा जाता है। ऐसे में वे महिलाएं जो करवा चौथ का व्रत रखती हैं वे सूर्योदय से पहले सुबह 3-4 बजे उठकर पानी पी लेती हैं और कुछ खा लेती हैं ताकि दिनभर उन्हें बिना कुछ खाए या पानी पिए रहने में किसी तरह की दिक्कत न हो। उत्तर भारत खासकर हिमाचल, पंजाब और दिल्ली जैसे राज्यों में सरगी का खासा महत्व है। इस दौरान सास अपनी बहू को सरगी की थाली सजाकर देती है जिसमें बहू के लिए आशीर्वाद और सुहाग के सामान के अलावा खाने-पीने की चीजें भी होती हैं।

सरगी की थाली में होती हैं ये चीजें
वैसे तो महिलाएं चाहें तो दिनभर निर्जला व्रत रखने से पहले कुछ हेल्दी खा सकती हैं ताकि दिनभर एनर्जी की कमी महसूस न हो। लेकिन ट्रडिशनल सरगी की थाली इन चीजों के बिना अधूरी है।

– सेवियां
दूध, चीनी और फेनियों मिलाकर तैयार होती है सेवियां। यह बेहद टेस्टी होने के साथ-साथ न्यूट्रिशस भी होती है और इसे सरगी की थाली में जरूर रखा जाता है।

– ताजे फल
केला, सेब इस तरह के ताजे फल भी सरगी की थाली में रखे जाते हैं। फलों में फाइबर और पानी की मात्रा अधिक होती है और सरगी में इन्हें खाने से आपको दिन भर भूख या प्यास का अनुभव नहीं होता।

– ड्राई फ्रूट्स
बादाम, अखरोट, काजू इस तरह के ड्राई फ्रूट्स भी सरगी की थाली में होने चाहिए। नट्स, कैलरीज और न्यूट्रिशन्स से भरपूर होते हैं। इन्हें खाने से दिन भर एनर्जी की कमी महसूस नहीं होती।

– मिठाई
हमारे देश में किसी भी अच्छे काम की शुरुआत मीठा खाकर ही की जाती है। लिहाजा मिठाइयां भी सरगी की थाली का अहम हिस्सा होती हैं। मिठाई खाने से भी व्रत वाले दिन आपको दिनभर भूख नहीं लगती।

Source: Jara Hat Ke

Leave a Reply