दिल्ली. इंडिया ओपन के फाइनल में भारतीय बैडमिंटन सनसनी पीवी सिंधु ने कैरोलिन मारिन को सीधे सेटों में हराकर रियो ओलिंपिक का बदला ले लिया. पहले सेट की शुरुआत में मारिन ने पहला प्‍वाइंट बनाया. इसके बाद सिंधु ने लगातार 6 प्‍वाइंट बनाए. लेकिन फिर मारिन ने वापसी की और मुकाबला रोचक हो गया. लेकिन उसके बाद सिंधु ने पहला सेट 21-19 से अपने नाम किया, जबकि दूसरे सेट में 21-16 से कैरोलिना मारिन को सीधे सेटों में शिकस्त देकर जीत हासिल कर ली.

स्टेडियम में सिंधू के कोच फुलेला गोपीचंद भी मौजूद थे. सिंधु पहली बार इंडिया ओपन सुपर सीरीज के फाइनल में पहुंची थी और पहली बार में ही उन्होंने खिताब जीत लिया. इससे पहले सिंधु ने शनिवार को सेमीफाइनल में दुनिया की चौथी रैंकिंग की कोरियाई खिलाड़ी सुंग जि हुन पर जीत दर्ज कर फाइनल में पहुंची थीं.

भारत-पाकिस्तान जैसे होती है दोनों की टक्कर

यह दसवीं बार है जब दोनों खिलाड़ी एक दूसरे के सामने थे. इससे पहले नौ मुकाबलों में कैरोलिना ने सिंधु को पांच बार मात दी है. इसमें पिछले साल अगस्त में खेला गया रियो ओलिंपिक का फाइनल भी शामिल है. वहीं, पीवी सिंधु ने अपनी स्पेनिश प्रतिद्वंदी को चार बार हराया है. साल 2010 में मैक्सिको में खेले गए बीएफडब्लू वर्ल्ड जूनियर चैम्पियनशिप्स में सिंधु ने कैरोलिन मैरिन को 21-17, 21-19 से हराकर खिताब अपने नाम किया था.

सेमीफाइनल में वर्ल्ड नंबर चार को ऐसे हराया…

इस मुकाबले में शनिवार को पीवी सिंधु ने वर्ल्ड नंबर चार दक्षिण कोरिया की सुन जी यून को हराकर फइनल में जगह बनाई थी. तीन गेम तक चले मुकाबले को सिंधु ने 21-18, 14-21 और 21-14 से अपने नाम किया. सिंधु ने पहला गेम जीत लिया था, लेकिन दूसरे गेम में यून ने वापसी करके स्कोर बराबरी पर ला दिया. फिर तीसरे गेम में सिंधु ने लगभग एकतरफा अंदाज में जीत दर्ज कर ली.

क्वार्टर में साइना को कुछ यूं हराया था…

गौरतलब है कि सिंधु ने शुक्रवार को क्वार्टर फाइनल मुकाबले में हमवतन साइना नेहवाल को मात दी थी. वास्तव में साल 2014 में इंडिया ग्रां. प्री में सिंधु को साइना ने ही हराया था. अब सिंधु ने इसका बदला भी ले लिया है. रोमांचक मुकाबले में पीवी सिंधु ने साइना नेहवाल को 21-16, 22-20 से हराने में सफलता हासिल की थी