Yogiलखनऊ : यूपी की योगी सरकार अब पूरी तरह सक्रिय हो गई है . केबिनेट की पहली बैठक के बाद कल देर रात तक मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के साथ बैठक कर अहम फैसले लिए.जिनमें जेवर में एयरपोर्ट बनाने को मंजूरी, 14 अप्रैल से हर जिला मुख्यालय पर 24 घंटे बिजली देने, रिहायशी इलाकों शराब की दुकानों की अनुमति नहीं देने और राज्य की सभी योजनाओं में अब ‘मुख्यमंत्री’ नाम जोड़ने का फैसला प्रमुख है.

बता दें कि चुनाव पूर्व राज्य की बदहाल बिजली व्यवस्था को सुधारने की दिशा में योगी सरकार ने कदम बढ़ा दिए हैं. यूपी के गांवों में अब शाम छह बजे से सवेरे छह बजे तक बिना कटौती के बिजली मिलेगी. 14 अप्रैल से ज़िला मुख्यालय में 24 घंटे, तहसीलों और गांव में 18 -18 घंटे बिजली सप्लाई के आदेश दिए गए हैं. इसके अलावा योगी आदित्यनाथ ने अगले 100 दिनों में पांच लाख नए कनेक्शन करने के साथ ही बिजली चोरी रोकने के लिए अधिकारियों को एक प्रोजेक्ट बनाने को कहा है. बता दें सीएम योगी की यह बैठक रात एक बजे तक चली.

इस बैठक में दूसरा अहम फैसला नोएडा के पास ही जेवर में एयरपोर्ट बनाने को लेकर हुआ . बता दें कि मायावती के राज में इसका फ़ैसला हुआ था, लेकिन अखिलेश सरकार आगरा में एयरपोर्ट बनाना चाहती थी. यही नहीं नोएडा और ग्रेटर नोएडा में जिन योजनाओं में देरी हुई, योगी सरकार ने उसकी जांच के आदेश भी दिए हैं.

इसके अलावा बैठक में यूपी सरकार ने राज्य की सभी योजनाओं से समाजवादी शब्द हटाकर ‘मुख्यमंत्री’ नाम लगाने का फ़ैसला किया. अखिलेश सरकार में अधिकतर योजनाओं में सबसे पहले ‘समाजवादी’ शब्द जोड़ा गया था. जैसे- समाजवादी पेंशन योजना आदि . योगी सरकार शराब के खिलाफ भी नजर आई .राज्य के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा है कि रिहाइशी इलाकों में किसी शराब दुकान की किसी सूरत में अनुमति नहीं देने का भी फैसला किया गया.