ईरान ने फोरडो परमाणु सयंत्र में तेज की गतिविधियां

ईरान ने अपने भूमिगत फोरडो परमाणु सयंत्र में आज से गतिविधियां तेज कर दी हैं। ईरान की इस हरकत से पूरा विश्व सकते में है. परमाणु गतिविधिया बढ़ने से साफ़ हो जाता है की ईरान परमाणु समझौते का उल्लंघन करना चाहता है. इस कार्यक्रम को लेकर ईरान ने कहा है कि उसका यह कदम परमाणु समझौते का उल्‍लघंन नहीं है बल्कि यह समझौते के अनुच्‍छेद 26 और 36 पर आधारित है।

इधर ईरान द्वारा अपने भूमिगत फोरडो परमाणु सयंत्र में गतिविधिया तेज करने को लेकर फ्रांस ने कहा है कि ईरान की इस कार्यवाही से पहली बार पता चलता है कि ईरान ने दुनिया के बड़े देशों के साथ ऐतिहासिक परमाणु समझौता तोड़ने की योजना बना ली है। इस समझौते से ईरान के विवादास्‍पद परमाणु कार्यक्रमों पर प्रतिबंध लगाया गया था। अंतरराष्‍ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के निरीक्षकों की मौजूदगी में ईरान ने फोरडो में परमाणु केन्‍द्रों में यू‍रेनियम गैस डालना शुरु कर दिया है। ईरान के परमाणु ऊर्जा संगठन ने इस बात की पुष्टि की है और कहा है कि यह कार्य आज स्‍थानीय समय के अनुसार रात बारह बजे शुरु किेया गया।

फ्रांस के राष्‍ट्रपति, एमैनुअल मैंक्रां ने ईरान के नए कदम को गम्‍भीर बताया है और कहा है कि इससे ईरान के इस समझौते से अलग होने का पहली बार संकेत मिल रहा है।

Leave a Reply