भोपाल :मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पुलिस ऑफिसर्स मीट जैसे आयोजन प्रति वर्ष होना चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजन से कर्तव्यों के निर्वहन के लिये नई ऊर्जा और शक्ति मिलती है। श्री चौहान आज पुलिस ऑफिसर्स मेस में मध्यप्रदेश के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारियों की सर्विस मीट-2017 को संबोधित कर रहे थे।

श्री चौहान ने कहा कि पुलिस-परिवारों के बीच आकर वे प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं। पुलिस अधिकारियों की ड्यूटी ऐसी है कि उनको परिवार के साथ कम ही समय मिल पाता है। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में भोपाल जोन द्वारा प्रस्तुत नृत्य-नाटिका ऊँ नर्मदेय: नम: की सराहना की और कहा कि इस नाटिका का अन्य स्थान पर भी मंचन करवाया जाये।
श्री चौहान ने विजेता टीमों को पुरस्कार दिये। प्रथम पुरस्कार भोपाल, द्वितीय पुरस्कार इन्दौर और तृतीय पुरस्कार जबलपुर जोन को मिला। एकल प्रस्तुति का विशिष्ट पुरस्कार जबलपुर की अपर पुलिस अधीक्षक श्रीमती यांगचीन डी. भूटिया को मिला। नृत्य नाटिका ऊँ नर्मदेय: नम: में नर्मदा के उदगम से अंत तक की कथा का संगीतमय प्रस्तुतिकरण हुआ। भोपाल, इन्दौर, जबलपुर और ग्वालियर जोन के अधिकारियों की टीम ने आकर्षक सांस्कृतिक प्रस्तुतियाँ दीं। इनमें भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारियों और उनके परिजन ने भाग लिया। प्रारंभ में पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्ला ने धर्मपत्नी श्रीमती नीलम शुक्ला के साथ मुख्यमंत्री और उनकी धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह का पुष्प-गुच्छ भेंटकर स्वागत किया। आईपीएस एसोसियेशन के अध्यक्ष श्री पवन जैन ने आभार प्रदर्शन किया। संचालन श्री विनय उपाध्याय ने किया।