इस्लामाबाद: पाकिस्तान में भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई गई है. कुलभूषण जाधव पर रॉ का एजेंट होने का आरोप था. जाधव को मार्च 2016 में गिरफ्तार किया गया था. भारत ने पाकिस्तान के आरोपों को खारिज किया था. बता दें कि जासूसी के आरोप में पाकिस्तान में गिरफ्तार किए गए भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव का पाकिस्तान ने एक वीडियो जारी किया था. इस वीडियो में जाधव को जासूरी करने के आरोप को कबूलते हुए दिखाया गया था.

पाकिस्तान द्वारा जारी इस वीडियो ‘कबूलनामे’ को भारत ने सिरे से खारिज कर दिया था. भारत सरकार ने इसे पठानकोट हमले में अपनी जिम्मेदारी से बचने की पाकिस्तान की कोशिश करार दिया था. भारत ने साथ ही यह आशंका भी जताई कि हो सकता है कि उनका अपहरण किया गया हो. भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर जारी बयान में कहा गया था कि गिरफ्तार व्यक्ति के बयान से साफ संकेत मिलता है कि यह सिखा पढ़ाकर तैयार कराया गया वीडियो है और हमें उसकी सलामती की चिंता है.

भारत ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि बिना कानून और न्यायिक प्रक्रिया का पालन करते हुए अगर जाधव को फांसी की सज़ा दी जाती है तो यह सुनियोजित हत्या होगी।