पेट्रोल पंप बंदनई दिल्ली – कंसोरटियम ऑफ इंडियन पट्रोलियम डीलर्स(सीआईपीडी) ने 10 मई के बाद से हर रविवार को पेट्रोल पंप बंद रखने की घोषणा की है. उन्होंने यह फैसला तेल कंपनियों की ओर से हो रही लगातार अनदेखी के चलते लिया है. रविवार को कुरुक्षेत्र में हुई सीआईपीडी की बैठक में निर्णय लिया गया है कि बीते वर्ष नवंबर महीने में मुंबई और इस वर्ष मार्च में तेल कंपनियों के साथ हुई बैठक में उनकी समस्याओं का कोई समाधान नहीं निकल पाया. इसके बाद सीआईपीडी ने हर रविवार पेट्रोल पंप बंद रखने की घोषणा की है।

सीआईपीडी ने यह भी कहा है कि तेल कंपनियों ने यदि इसके बाद भी सुधार नहीं किया तो पेट्रोल पंपों को रात में भी बंद रखा जाएगा. आपको बता दें कि देशभर में 53 हजार पेट्रोल पंप हैं और अगर सीआईपीडी का यह फैसला लागू हो जाता है तो आम लोगों के लिए दिक्कत खड़ी हो सकती है. मौजूदा समय में सीआईपीडी के इस फैसले के संबंध में तेल कंपनियों की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

सीआईपीडी के राष्ट्रीय एडी सत्यानारायणन ने कहा, “वर्ष 2011 से तेल कंपनियां पंप मालिकों को मार्जिन नहीं दे रही है, जिससे पंप संचालक को नुकसान हो रहा है. इससे बचने के लिए उन्होंने समय-समय पर मार्जिन दिए जाने की मांग की, लेकिन अधिकारियों की ओर से लगातार अनदेखी की जा रही है.

सीआईपीडी का फैसले लागू होने से पेट्रोल पंपों पर निश्चित रुप से भीड़ बढ़ेगी. इसके साथ ही रविवार के दिन पेट्रोल या डीजल खत्म होने पर लोगों को अगले दिन तक का इंतजार करना पड़ेगा. वहीं दूसरी ओर, इससे तेल खपत पर प्रभाव पड़ेगा और प्रत्येक महीने तेल कंपनियों को होने वाले करोड़ों रुपये के मुनाफे पर भी असर पड़ेगा।