रांची : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि कालाधन ने देश की अर्थव्यवस्था को खोखला बना दिया है. पिछले 70 वर्षों में देश की  अर्थव्यवस्था चरमरा गयी थी.  भारतीय अर्थव्यवस्था में प्राण फूंकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विमुद्रीकरण किया. उनके नेतृत्व में भारत को डिजिटल बनाने के लिए झारखंड ने आगे बढ़ कर अपना हिस्सा लिया है.

मुख्यमंत्री शुक्रवार को प्रोजेक्ट भवन में आयोजित डिजिधन मेला के समापन समारोह में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि डॉ भीम राव आंबेडकर की 126वीं  जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री   ने भीम आधार की शुरुअात की है. यह देश को डिजिटल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. झारखंड सरकार ने बैंक के साथ समन्वय बना कर राज्य में डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा  देने का काम किया. आइटी विभाग के अधिकारियों ने भी ग्रामीण क्षेत्र में प्रशिक्षण देकर लोगों को जागरूक किया.

श्री दास ने खुशी जताते हुए कहा कि पूरी तरह डिजिटल हो चुका साहेबगंज को देश के टॉप 22 डिजिटल जिलों में शामिल किया गया है. साहेबगंज में 12.5 लाख की आबादी डिजिटल ट्रांजेक्शन से भुगतान कर रही है. 4.5 लाख लोग भीम एप का इस्तेमाल कर रहे हैं. 44 हजार व्यापारी डिजिटल लेन-देन करते हैं. प्रधानमंत्री बोकारो और जमशेदपुर के उपायुक्तों को डिजिटल के प्रति लोगों को जागरूक और प्रशिक्षित करने के लिए सम्मानित कर चुके हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने झारखंड में एक लाख सखी मंडल को मोबाइल फोन प्रदान कर राज्य को डिजिटल के क्षेत्र में मजबूत बनाने का काम किया है. आनेवाले समय में राज्य सरकार 95 हजार अन्य सखी मंडल को भी स्मार्ट फोन देगी. श्री दास ने अधिकारियों से टीम बना कर कैशलेस ट्रांजेक्शन के प्रति ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक करने को कहा. उन्होंने कहा कि कैशलेस से देश में 30 प्रतिशत कर चोरी रुकी है. इसका सीधा फायदा गरीब जनता को मिलेगा.

श्री दास ने महिलाओं से ज्यादा से ज्यादा कैशलेस ट्रांजेक्शन का आह्वान किया. कार्यक्रम में राज्य सरकार के मंत्रियों के  अलावा सांसद लक्ष्मण गिलुवा, मुख्य सचिव राजबाला वर्मा, विकास आयुक्त अमित  खरे, कार्मिक सचिव निधि खरे, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव  संजय कुमार, सचिव  सुनील वर्णवाल  आदि मौजूद थे.