मुंबई. भारतीय स्टेट बैंक ने कुछ खास प्रकार के खातों वाले अपने ग्राहकों को औसत मासिक बैलेंस बनाये रखने के नियम में छूट दिया है. इन खातों में स्मॉल सेविंग्स बैंक, छोटे बचत खाते, बेसिक सेविंग्स बैंक अकाउंट्स, जन धन अकाउंट, कॉरपोरेट सैलरी अकाउंट शामिल हैं. इन खातों के धारकों को न्यूनतम बैलेंस मेंटेन करने की जरूरत नहीं है.

बैंक ने यह जानकारी ट्वीट के माध्यम से दी है. मालूम हो कि एक अप्रैल से एसबीआइ के सेविंग खातों में न्यूनतम बैलेंस निर्धारित करते हुए उसे रखना अनिवार्य कर दिया है. एक अप्रैल से बैंक ने मेट्रो शहरों के खाता धारकों के लिए न्यूनतम बैलेंस 5,000 रुपये, शहरी के लिए 3,000 रुपये, अर्ध-शहरी के लिए 2,000 रुपये और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 1,000 रुपये तय की है.

एक अप्रैल से यह नियम प्रभावी हो चुका है. यह जुर्माना जरूरी मिनिमम बैलेंस और उसमें कमी के बीच के अंतर पर आधारित होगा.