मोतिहारी : केंद्रीय कौशल विकास उद्यमिता राज्यमंत्री राजीव प्रताप रूड़ी ने मंगलवार को बिहार में मोतिहारी जिला स्कूल के मैदान में आयोजित दो दिवसीय रोजगार मेले के उद्घाटन किया. उद्घाटन के बाद अपने संबोधन में राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि दस व 12 वर्षों की पढ़ाई करने से युवक-युवतियों को रोजगार नहीं मिलेगा, परंतु 12 हफ्तों का प्रशिक्षण उन्हें आत्मनिर्भर बना देगा. कौशल विकास जीवन को सुंदर बनाता है. पूरे बिहार में कौशल विकास केंद्र का जाल बिछा देंगे. ताकि बिहार के युवक-युवतियों को बेरोजगारी से निजात मिल सके. इतना ही नहीं मोतिहारी में ड्राइवर प्रशिक्षण केंद्र भी खुलेगा.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस दो दिवसीय रोजगार मेले के माध्यम से हजारों बेरोजगारों को गरीबी से निकलने का रास्ता प्रशस्त होगा. रोजगार मेले में चयनित अभ्यर्थियों को 24 घंटा में नौकरी दी जायेगी. कहा कि उन्हें दो लाख ड्राइवरों की आवश्यकता है पर इन ड्राइवरों को अंग्रेजी व जीपीएस सिस्टम की जानकारी होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि आइटीआइ करने वाले छात्रों को अब मैट्रिक व इंटर का प्रमाण पत्र देने का निर्णय लिया गया है. साथ ही आइटीआइ करनेवाले छात्रों के कैरियर को ध्यान में रखकर उन्हे विशेष प्रशिक्षण दिया जायेगा. ताकि वे अच्छी कंपनी में काम कर अपनी आमदनी बढ़ा सके.

राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश से बेरोजगारी दूर करने के लिए कौशल विकास का अलग मंत्रालय बनाया है. मोदी सरकार के पूर्व देश में यह मंत्रालय नहीं था. कहा कि उत्तर प्रदेश में नौ जगहों पर रोजगार मेला आयोजित कर 20 हजार नौजवानों को रोजगार दिया गया है. दिल्ली में मोदी और यूपी में योगी सरकार है पर बिहार के लोगों को सेवा का मौका के लिए इंतजार करा रहे है पर हम इनकी सेवा में पीछे नहीं रहेंगे. अब बिहार में भी हमारी सरकार बनेगी. कारण कि जनता अब सबकों समझ चुकी है. रूड़ी ने अपने राजनीतिक सफलता का श्रेय केंद्रीय कृषि मंत्री को देते हुए उनकी कार्यशैली की तारिफ की.