बेंगलुरु में भारत की विमानन राजधानी बनने की क्षमता है: खारोला

बेंगलुरु : बेंगलुरु में भारत की विमानन राजधानी बनने की क्षमता है खारोला. एशिया के सबसे बड़े नागर विमानन कार्यक्रम “विंग्स इंडिया 2020” से पूर्व बेंगलुरु में भारतीय विमानन और प्रौद्योगिकी जगत के शीर्ष व्यक्तित्व एक औद्योगिक बैठक के लिए एकत्रित हुए हैं। इस बैठक में भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव श्री प्रदीप सिंह खारोला, नागरिक उड्डयन मंत्रालय की संयुक्त सचिव श्रीमती उषा पाढी, मानव अंतरिक्ष उड़ान केंद्र इसरो के अध्यक्ष और निदेशक डॉ. एस. उन्नीकृष्णन नायर के साथ-साथ अन्य वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी शामिल हुए।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव श्री प्रदीप सिंह खारोला ने कहा कि पिछले एक दशक में, भारत एक मजबूत नागरिक उड्डयन बाजार का साक्षी रहा है और इस आयोजन के माध्यम से हम एक अनुकूल मंच प्रदान करना चाहते हैं जो नवीन व्यापार अधिग्रहण, निवेशों, नीति निर्माण और क्षेत्रीय संपर्क पर ध्यान केंद्रित करते हुए इस क्षेत्र में तेजी से बदलती गतिशीलता के साथ कार्य करेगा।

उन्होंने कहा कि बेंगलुरु भारत की सूचना प्रौद्योगिकी राजधानी है और इसमें भारत की विमानन राजधानी बनने की क्षमता है। भारतीय नागरिक उड्डयन उद्योग के एक प्रमुख कार्यक्रम ‘विंग्स इंडिया 2020’ का आयोजन 12 से 15 मार्च 2020 तक बेगमपेट हवाई अड्डे, हैदराबाद में किया जाएगा।

इस चार दिवसीय कार्यक्रम ‘विंग्स इंडिया 2020’- का विषय: ‘फ्लाइंग फ़ॉर ऑल’ है। यह एक अंतरराष्ट्रीय मंच के रूप में नागरिक उड्डयन उद्योग में नए व्यापार अधिग्रहण, निवेश, नीति निर्माण और क्षेत्रीय संपर्कों पर केंद्रित है। इस अवसर पर अपने संबोधन में, मानव अंतरिक्ष उड़ान केंद्र इसरो के निदेशक डॉ. एस. उन्नीकृष्णन नायर ने कहा कि भारत वैश्विक विमानन क्षेत्र के पुनरुद्धार के लिए तैयार है।

नागरिक उड्डयन और अंतरिक्ष उद्योग संयुक्त रूप से पायलटों और अंतरिक्ष यात्रियों को एक विश्व स्तरीय प्रशिक्षण सुविधा प्रदान करेगा। हमें विश्वास है कि विमानन के साथ-साथ अंतरिक्ष के नवीन विकास क्षेत्रों को विकसित करने के लिए यह प्रदर्शनी एक ऐसा मंच है जिसके माध्यम से सकारात्मक लक्ष्यों को प्राप्त करना सुनिश्चित किया जा सकता है। इससे पूर्व भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय की संयुक्त सचिव, उषा पाढ़ी ने गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत करते हुए कहा कि इस शिखर सम्मेलन का उद्देश्य अवसरों का पता लगाने के लिए इस क्षेत्र से जुड़े सभी हितधाकरों, सुसाध्यकर्ताओं और उड्डयन क्षेत्र के नियामकों को एक साथ एक मंच पर लाना है।

यह सभी नागरिक उड्डयन क्षेत्र के हितधारकों के लिए एक ऐसा मंच है जहां वे अधिक से अधिक तालमेल के साथ एक दूसरे की सर्वोत्तम प्रथाओं से सीख सकें। भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय, एएआई और फिक्की के द्वारा आयोजित विंग्स इंडिया 2020 उद्योग जगत में एशिया का सबसे व्यापक और लोकप्रिय सम्मलेन है। इस आयोजन में नागरिक उड्डयन क्षेत्र के विदेशी मंत्रियों, शीर्ष नेताओं, अंतर्राष्ट्रीय स्तर के मुख्यकार्यकारी अधिकारियों, आपूर्तिकर्ताओं, रणनीतिक साझेदारों, संगठनों और मीडिया के शामिल होने की उम्मीद है।

Leave a Reply