भूपेश की गैर हाजिरी में बिखरी सी नजर आई कांग्रेस

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इन दिनों अमेरिका के दौरे में वहां वे अप्रवासियों के बीच अपनी बात कह रहे हैं तो प्रदेश का हाल बुरा होता जा रहा है। भूपेश के जाते ही मानो प्रदेश की लगाम ही छूट गई है। कहीं कांग्रेस के विधायक आईपीएस अधिकारी को देख लेने की बात कह रहे हैं तो कहीं रायपुर पहुंचे कांग्रेस के प्रभारी पी एल पुनिया पत्रकार वार्ता में पत्रकारों के दिमाग पर सवालिया निशान उठा रहे हैं .

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के रायपुर से बाहर जाते ही कांग्रेस का जो आलम है उससे साफ पता चलता है कि कांग्रेस के अंदर क्या चल रहा है। कहीं ताजा तरीन विधायक आईपीएस अधिकारियों को खुलेआम धमकी दे रहे हैं तो कहीं कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायक ही अपने प्रभारी को खरी-खोटी सुना रहे हैं.

कांग्रेस में गड़बड़ी का आलम इसी से साफ पता चलता है कि पहली बार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की गैर हाजिरी में पीसीसी की बैठक आयोजित की गई जिसमें कांग्रेस के प्रभारी पीएल पूनिया सहित चंदन यादव शरीक हुए लेकिन इस बैठक में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता नदारद रहे। इतना ही नहीं इस बैठक का एजेंडा शायद कांग्रेसियों को भी नहीं मालूम था लेकिन आनन-फानन में बुलाई इस बैठक ने कांग्रेस के लिए मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। आज की इस बैठक के बाद कांग्रेस के प्रभारी पी एल पुनिया और विधायकों के बीच की तकरार और रार सामने आ गई है। नवनिर्वाचित विधायक विकास उपाध्याय ने आज अपने प्रभारी पी एल पुनिया को भी खरी-खोटी सुना दी। बैठक के बाद एयरपोर्ट पर बहस इतनी बढ़ गई कि पीएल पुनिया ने तैश में आकर विकास को सस्ती लोकप्रियता और नौटंकी बंद करने की बात कही जिस पर गुस्साए विधायक विकास उपाध्याय ने पुनिया से कहा कि राजनीति आपसे सीखेंगे क्या? मालूम हो नवनिर्वाचित विधायक विकास उपाध्याय एक लोकप्रिय नेता हैं जनता और खासतौर पर युवाओं के बीच उनकी काफी अच्छी पैठ है इतना ही नहीं विकास की संगठन में भी काफी अच्छी पकड़ है इसके साथ ही वे राहुल गांधी के करीबी भी माने जाते हैं।

भूपेश बघेल की गैर हाजिरी में आयोजित कांग्रेस की बैठक और उसके बाद प्रदेश प्रभारी और विधायकों के बीच तकरार से कांग्रेस की दरारें साफ नजर आने लगी है खैर अब प्रदेश में कोई चुनाव नहीं है इसलिए कांग्रेस को इससे नुकसान होता नजर तो नहीं आ रहा है लेकिन कांग्रेस के इन आपसी कलह से जनता के बीच कांग्रेस की छवि जरूर खराब हो रही है.

Leave a Reply