सफाई कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता से करायें: मुख्य सचिव

मुख्य सचिव ने नगर निगमों के कमिश्नरों की ली बैठक

रायपुर, मुख्य सचिव श्री आर.पी.मण्डल ने नगर निगमों के कमिश्नरों और मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को शहर की साफ-सफाई कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता से कराने के निर्देश दिये है। मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा है कि वे प्रातः उठकर शहर का भ्रमण करें। शहर की सफाई, पीने के पानी की व्यवस्था, स्कूलों, सड़कों की हालत देखें। मुख्य सचिव ने आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में राज्य के सभी नगर निगमों के आयुक्तों की बैठक ली तथा कमिश्नरों से उनके शहर विकास की योजनाओं की जानकारी भी ली। मुख्य सचिव ने आयुक्तों को निर्देश दिए है कि शहरों में टेंकर मुक्त पेयजल आपूर्ति करने के लिए समुचित कार्यवाही करें।
मुख्य सचिव ने कहा कि नगर निगम जिले का चेहरा होता है इसलिए उसकी सफाई सबसे ज्यादा जरूरी है। उन्होंने वार्ड क्लीनिक और वार्ड कार्यालयों को सुचारू रूप में क्रियान्वित करने के लिए समुचित कार्यवाही करने के निर्देश दिये है। मुख्य सचिव ने कहा कि वार्ड क्लीनिक के लिए कमिश्नर शहर के चिकित्सकों से वार्ड क्लीनिक में अपनी सेवाएं देने का अनुरोध करे। नगर निगम क्षेत्र के स्कूलों की व्यवस्थाओं को देखें। शहर के हर मोहल्ले में लोगों को पीने का स्वच्छ पानी मिल रहा है या नहीं इसकी जानकारी लें। लोगों को शुद्ध पानी पीने के लिए उपलब्ध करायें। मुख्य सचिव ने कहा कि वे स्वयं शहर व्यवस्था देखते है और वे किसी भी शहर का आकस्मिक निरीक्षण करके जानकारी लेंगे।
मुख्य सचिव ने नगर निगम बिलासपुर के कमिश्नर से वहां पर अरपा नदी की सफाई के कार्य को प्राथमिकता और जन सहभागिता से कार्य करने को कहा। मुख्य सचिव ने कहा कि लोगों से श्रमदान और उद्योगों और व्यवसायियों की मदद लें। इस काम को मिशन मोड पर चुनौती से करने के निर्देश कमिश्नर को दिए। इसी तरह से कोरबा में प्रदूषण नियंत्रण और वहां साफ-सफाई पेयजल व्यवस्था के लिए समुचित कार्यवाही करने के निर्देश वहां के नगर निगम कमिश्नर को दिए। कमिश्नरों की बैठक में मुख्य सचिव ने उन्हें प्रेरित करते हुए कहा कि हमें लोगों की भलाई के काम करने में जो आत्म संतुष्टि मिलती है, वह सिर्फ ऐसा करके ही महसूस की जा सकती है। बैठक में नगरीय प्रशासन विभाग की सचिव श्रीमती अलरमेल मंगई डी. भी मौजूद थी।

Leave a Reply