क्यू नाराज है कप्तान विराट कोहली इन साथी खिलाडियों से

Last Updated on

वेलिंगटन. वनडे सीरीज में हार के बाद  उम्मीद थी कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की टीम भारत टेस्ट सीरीज में हिसाब बराबर कर लेगी. मगर  ऐसा हुआ नहीं और पिछले सात मैच लगातार जीतने वाली भारतीय टीम को वेलिंगटन में पहले टेस्ट में 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. मैच के बाद कप्तान विराट कोहली ने हार की वजह बताई.

नहीं बना पाए दबाव
कोहली ने मैच के बाद कहा कि टीम के प्रमुख बल्लेबाजों का फ्लॉप होना और न्यूजीलैंड के पुछल्ले बल्लेबाजों का प्रदर्शन भारत की हार का बड़ा कारण बना. कोहली ने कहा कि मयंक के अलावा केवल रहाणे ही सधी हुई बल्लेबाजी कर पाई. कोहली ने कहा, ‘हम एक बल्लेबाजी इकाई के तौर पर कड़ी चुनौती पेश नहीं कर पाए. हम कीवी गेंदबाजों पर दबाव बनाने में नाकाम रहे. अगर हम 220-230 बना लेते और वह तीन विकेट सस्ते में ले लेते तो शायद परिणाम कुछ और हो सकता था. हम ऐसा करने में नाकाम रहे. पहली पारी के बाद हम काफी पिछड़ गए थे वहीं न्यूजीलैंड की बड़ी लीड के कारण दूसरी पारी में हमपर काफी दबाव था.’कोहली ने हालांकि अपनी गेंदबाजों की तारीफ की और कहा कि उन्होंने अच्छी शुरुआत दी लेकिन न्यूजीलैंड के निचले ऑर्डर के बल्लेबाजों ने काफी परेशान किया. न्यूजीलैंड ने अपनी पहली पारी में 225 रनो पर ही सात विकेट खो दिए थे, लेकिन आखिर के तीन बल्लेबाजों ने 123 रन जोड़ दिए जिससे कीवियों को 183 की बड़ी लीड हासिल हुई. कोहली ने कहा, ‘इसका मतलब यह नहीं है कि हम गेंदबाजों को इसका कारण समझें. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुछ भी हो सकता है.’

पृथ्वी शॉ का बचाव
दोनों पारियों में फ्लॉप रहे पृथ्वी शॉ का बचाव करते हुए कोहली ने कहा, ‘पृथ्वी ने अभी घर से बाहर केवल दो मैच खेले हैं. वह अच्छे खिलाड़ी हैं और रन बनाने की राह खोज लेंगे. मयंक ने दोनों पारियों में अच्छा खेल दिखाया. वह और रहाणे ऐसे बल्लेबाज हैं जो कुछ समय में ही लय हासिल कर सकते हैं. एक मजबूत बल्लेबाजी यूनिट के तौर पर हमें जरूरत है कि हम अपनी योजना पर कायम रहे.’ भारत अब दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 0-1 से पिछड़ रहा है. सीरीज का दूसरा मैच क्राइस्टचर्च में 29 फरवरी से खेला जाएगा

Leave a Reply