किर्गिस्तान में फँसे छत्तीसगढ़ के 500 मेडिकल छात्रों की मदद के लिये आगे आए कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत

Last Updated on

रायपुर:कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को स्थगित कर दिया गया है। जिसके चलते छत्तीसगढ़ के 500 मेडिकल छात्र मध्य एशियाई देश किर्गिस्तान में फँस गए हैं। इन छात्रों में रामानुजगंज के विधायक बृहस्पति सिंह का बेटा भी शामिल है। कोरोना के बढ़े हुए मामलों के मद्देनजर रखते हुए छत्तीसगढ़ के खाद्य मंत्री अमरजीत भगत इन छात्रों की मदद के लिये आगे आए हैं। उन्होंने माननीय राज्यपाल सुश्री अनसुईया उइके से उन्हें वापस छत्तीसगढ़ लाने के लिए सहयोग हेतु आग्रह किया।

गौरतलब है कि राज्यपाल महोदया ने भारत के विदेश मंत्री से पहले भी फ़ोन पर चर्चा कर छात्रों की जल्द वापसी हेतु प्रबंध करने का आग्रह किया था। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 31 मार्च तक लॉक डाउन की घोषणा की थी। बाद में केंद्र सरकार ने भी 21 दिन का लॉक डाउन घोषित किया, जिसके कारण दैनिक वेतन भोगी व मजदूर वर्ग के लिये भोजन का संकट खड़ा हो गया था। खाद्य व नागरिक आपूर्ति तथा संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने उनकी मदद के लिये एक माह का वेतन देने का निर्णय लिया गया था, तद्अनुसार उन्होंने आज योगदान राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में दे दी है।

Leave a Reply