पेरिस : आखिरकार 39 साल के इमैनुअल मैक्रों फ्रांस के राष्ट्रपति का चुनाव जीत ही गए. वे फ्रांस के सबसे युवा राष्ट्रपति होंगे. उन्होंने मैरी ल पेन को हराया. रिपोर्ट्स के मुताबिक मैक्रों को करीब 64 प्रतिशत वोट मिले हैं. दुनियाभर के राष्ट्राध्यक्षों ने मैक्रों को बधाई दी है.

मैक्रों एक पूर्व बैंकर हैं. ये उनका पहला प्रेसिडेंट चुनाव था. बता दें कि 2012 में मेक्रों को प्रेसिडेंट ओलांद का एडवाइजर बनाया गया था. बाद में 2014 में वित्त मंत्रालय का कार्यभार दिया गया. नवंबर 2016 में मैक्रों को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया गया. उन्हें पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी समर्थन दिया था.

जीत के बाद क्या बोले मोक्रों ?
जीत के बाद मैक्रों ने लोगों को शुक्रिया कहा. उन्होंने कहा, ‘फ्रांस के लंबे इतिहास में एक नया अध्याय शुरू हो रहा है. मैं चाहता हूं कि यह उम्मीद और विश्वास बनकर उभरे.

मैक्रों के एजेंडा में ये मुद्दे सबसे ऊपर
– मैक्रों 5000 बॉर्डर गार्ड्स की फोर्स बनाएंगे. फ्रांसीसी राष्ट्रीयता हासिल करने के लिए फ्रैंच भाषा अनिवार्य करेंगे.
– जेलों में 15 हजार कैदियों की क्षमता बढ़ाने के लिए काम करेंगे
– धर्मनिरपेक्ष मूल्यों के विस्तार पर जोर देंगे.