मुख्यमंत्री ने किसानों को अपने हाथों से पिलाया पानी

समाधान शिविर में कई घोषणाएं: शिक्षा कर्मियों का वेतन भुगतान एक सप्ताह में करने के निर्देश

रायपुर : ज्येष्ठ महीने के सूरज की झुलसा देने वाली तेज धूप और गर्म हवाओं के थपेड़ों के बीच मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के अंतिम चरण में आज दुर्ग जिले के ग्राम सांकरा (विकासखंड पाटन) पहुंचे। उन्होंने वहां समाधान शिविर में जनता को सम्बोधित किया। डॉ. सिंह ने इस दौरान प्राथमिक सेवा सहकारी समिति में आगामी खरीफ फसल के लिए खाद और बीज लेने आए किसानों से मुलाकात की और कई किसानों को अपने हाथों से पानी भी पिलाया।
मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा कि गर्मियों में प्यासों को पानी पिलाना हमारी संस्कृति का एक अभिन्न हिस्सा रहा है। उन्होंने प्याऊ संस्कृति को बढ़ावा देने और इंसानों के साथ-साथ पशु-पक्षियों के लिए भी लोगों से गर्मी के दिनों में स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था करने का आव्हान किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि भीषण गर्मी के इस मौसम में चिड़ियों को भी पानी की काफी जरूरत होती है। इसे ध्यान में रखकर हम सबको अपने-अपने घरों में पक्षियांे के लिए सकोरे में पानी रखना चाहिए। समाधान शिविर में मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों के मांग पर कई घोषणाएं की। उन्होंने कहा- सांकरा में मिनी स्टेडियम बनवाया जाएगा, हाईस्कूल के लिए आहाता निर्माण किया जाएगा, सांकरा के निस्तारी तालाब को बांध के पानी से भरा जाएगा, सांकरा के अंतिम छोर के खेतों तक पानी पहुंचाने के लिए तांदुला सिंचाई जलाशय की सेलूद वितरक नहर का विस्तार किया जाएगा।
उन्होंने कहा-क्षेत्र के ग्राम अम्लेश्वर में 15 लाख रूपए की लागत से व्यावसायिक परिसर (शॉपिंग कॉम्प्लेक्स) का निर्माण किया जाएगा। डॉ. रमन सिंह ने संबंधित अधिकारियों को दुर्ग जिले के शिक्षा कर्मियों के लंबित वेतन का भुगतान एक सप्ताह के भीतर सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। डॉ. सिंह ने सांकरा के वनपरिक्षेत्र में पेड़-पौधों को पानी देने के लिए सोलर पम्प और ड्रिप सिंचाई उपकरणों की भी स्वीकृति तुरन्त प्रदान कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *