केंद्र सरकार पर बघेल की टिप्पणी अपनी नाक़ामियों से ध्यान भटकाने का ओछा राजनीतिक हथकंडा : भाजपा

प्रारंभिक जाँच की बदइंतज़ामी के चलते ही प्रदेश में कोरोना का संकट विस्पोटक स्थिति में पहुँचा : कौशिक

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा केंद्र सरकार पर की गई टिप्पणी को अपनी नाक़ामियों से लोगों का ध्यान भटकाने का ओछा राजनीतिक हथकंडा बताया है। श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार को पहले अपने दामन में लगे नाकारापन के दाग़ देख लेना चाहिए जिसने कोरोना संकट को प्रदेश में इस विस्पोटक स्थिति तक ला पहुँचा दिया है।
नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि जो सरकार बार-बार कहने के बाद भी प्रदेश के क्वारेंटाइन सेंटर्स के इंतज़ाम दुरुस्त तक नहीं कर पाई, उस सरकार के मुखिया हर बार अपनी विफलताओं से मुँह चुराकर केंद्र सरकार के बारे में बेसिरपैर की बातें कहकर सिर्फ़ खम्भे नोचने का काम ही कर रहे हैं। श्री कौशिक ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम में पूरी तरह विफल रही प्रदेश सरकार आज तक इस महामारी की प्रारंभिक जाँच और उपचार की अपनी ओर से कोई पुख़्ता व्यवस्था विकसित नहीं कर पाई है। बिलासपुर में 1584 सैंपल बिना जाँच किए फेंक दिया जाना इस बात का प्रमाण है कि प्रदेश सरकार इस महामारी के ख़िलाफ़ चल रही जंग में प्रदेश सरकार इच्छा शक्ति से शून्य दिख रही है और बात-बेबात केंद्र सरकार पर अपनी विफलताओं का ठीकरा फोड़ने का हास्यास्पद उपक्रम ही कर रही है।

नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री बघेल हर मौक़े पर प्रदेश की आर्थिक बदहाली का रोना रोते हैं वहीं दूसरी तरफ सरकारी खजाने के पैसों से अपने झूठ का रायता फैलाने में लगे हुए हैं। मुख्यमंत्री बघेल वापसी कर रहे लोगों के परीक्षण की व्यवस्था तक नहीं कर पा रहे हैं और दहशतज़दा ग्रामीणों को उनके स्वागत के लिए कह रहे हैं। प्रदेश सरकार की प्रारंभिक जाँच की बदइंतज़ामी के चलते ही प्रदेश में कोरोना का संकट इस विस्पोटक स्थिति में पहुँच गया है। कोरोना का यह ज़मीनी सच प्रदेश सरकार का असली चेहरा सामने लाने के लिए पर्याप्त है और सच के इस आईने में अपनी विफलताओं से दाग़दार शक्ल से घबराई प्रदेश सरकार बार-बार, हर बार बस केंद्र सरकार को कोसने की सियासी नौटंकियाँ ही करती रहती है।

Leave a Reply