पेट्रोलियम मंत्री प्रधान ने ओपेक के महासचिव के साथ विचार-विमर्श किया

नई दिल्ली : केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री श्री धर्मेंद्र प्रधान ने पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक)के महासचिव महामहिम डॉ. मोहम्मद बरकिंडो के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से विचार-विमर्श किया।कॉन्फ्रेंस में वैश्विक ऊर्जा बाजारों में मौजूदा स्थिति, कोविड-19 की चुनौतियों के बीच कच्चे तेल की कीमतों के रुझान और इस महीने के अंत में होने वाली ओपेक की बैठकपर चर्चा हुई।

मंत्री
श्री प्रधान ने वैश्विक स्तर पर कमजोर आर्थिक स्थिति मेंसुधार के लिए
उत्पादक और उपभोक्ता देशों द्वारा आने वाले दिनों में जिम्मेदार कदम उठाने
की आवश्यकता को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि आर्थिक सुधारधीरे-धीरेहोने
की उम्मीद है, जो तेल की वृद्धि को पुनर्जीवित करेगाऔर इसलिए  आपूर्ति और
मांग के बीच के नाजुक संतुलन को बनाये रखने पर ध्यान दिया जाना
चाहिए।मंत्री श्री प्रधान ने तेल बाजारों को स्थिर करने में ओपेक की भूमिका
पर जोर दियाऔर भारत की ऊर्जा सुरक्षा के लिए तथा वर्तमान चुनौतीपूर्ण
वातावरण में वैश्विक ऊर्जा स्थिरता के लिए, ओपेक देशों के साथ मिलकर काम
करने पर सहमति व्यक्त की।

श्री
बरकिंडो ने श्री प्रधान को 8वीं ओपेक अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में भाग
लेने के लिए आमंत्रित किया, जिसका आयोजन 16 और 17 जून, 2021 को वियना में
होगा। दोनों पक्षों ने जुलाई 2020 में भारत-ओपेक उच्च स्तरीय वार्ता को
डीवीसी के माध्यम से आयोजित करने पर सहमति व्यक्त की।श्री बरकिंडो ने देश
में महामारी का प्रबंधन करने और आर्थिक गतिविधियों को पुनर्जीवित करने में
भारत के प्रयासों की प्रशंसा तथा सराहना की।

Leave a Reply