कमांडो 3 का एक्शन से भरपूर तूफानी प्रीमियर रविवार 21 जून को रात 8 बजे

आएगा जब तूफान, डटकर लड़ेंगे सीना-तान!

एंड पिक्चर्स पर कमांडो 3 के प्रीमियर में निडर करण सिंह डोगरा को आतंक का मुकाबला करते देखिए

देखिए एक्शन से भरपूर इस ब्लाॅकबस्टर का प्रीमियर, रविवार 21 जून को रात 8 बजे

एक देश, एक मिशन और एक जबर्दस्त जाबांज़! इस रविवार कमर कस लीजिए क्योंकि एंड पिक्चर्स कमांडो 3 का एक्शन से भरपूर तूफानी प्रीमियर लेकर आ रहा है। तीन गुना एक्शन और रोमांच के साथ साहसी कमांडो करण सिंह डोगरा एक बार फिर अपने देश को बचाने लौट आया है। उसके दुश्मन बहुत सारे और अलग-अलग हैं लेकिन अपने पक्के इरादों के साथ यह निडर कमांडो सीना तानकर अपने रास्ते में आने वाली हर अड़चन से भिड़ने को तैयार है। आदित्य धर के निर्देशन में बनी फिल्म कमांडो 3 आपके टेलीविजन स्क्रीन्स पर एक रोमांचक कहानी और अभूतपूर्व एक्शन लेकर आएगी। इस फिल्म में कमांडो करण सिंह डोगरा के रोल में वापस लौटे हैं विद्युत जामवाल। उनके साथ अदा शर्मा भावना रेडी के रोल में नजर आएंगी, अंगिरा धर ने ब्रिटिश इंटेलिजेंस ऑफिसर मल्लिका सूद का रोल निभाया है और गुलशन देवैया, खलनायक बुराक अंसारी बने हैं। तो फिर रविवार 21 जून को रात 8 बजे आप भी कमांडो करण सिंह डोगरा का धुंआधार एक्शन देखने के लिए तैयार हो जाइए।

इस फिल्म और अपने किरदार के बारे में बताते हुए गुलशन देवैया ने कहा, ‘‘मैं कुछ रोमांचक और पूरी तरह कमर्शियल करना चाहता था। कमांडो 3 में मुझे वो मौका मिला, जिसमें मुझे अपनी सोच के मुताबिक रोल करने की आजादी मिली। मैंने बुराक के किरदार में अपने हिसाब से बारीकियां जोड़ी हंै। वो कोई सामान्य विलेन नहीं है बल्कि ऐशो आराम में पला-बढ़ा है। वो तकनीकी तौर पर कभी पीछे नहीं रहा और उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं होता। मेरे विचार से वो शोहरत का भूखा है, जो अपने काम के लिए इतिहास में अपना नाम बनाना चाहता है। वो लंदन में रहने वाला एक सुशिक्षित इंसान है और मुझे उसके बोलचाल के अंदाज और हाव-भाव पर भी काफी ध्यान देना पड़ा, जो मेरे ख्याल से बहुत जरूरी था। मुझे इस किरदार की संवेदनशीलता को समझना पड़ा, साथ ही उस कहानी को भी महसूस करना पड़ा जो निर्देशक कहना चाहता था और फिर इसी हिसाब से अपनी परफॉर्मेंस देनी पड़ी। कुल मिलाकर, बुराक का किरदार निभाना एक बड़ी चुनौती थी। अब जबकि यह फिल्म एंड पिक्चर्स पर प्रीमियर हो रही है तो मैं उम्मीद करता हूं कि दर्शक इस किरदार को लेकर मेरी समझ और मेरे प्रयास की तारीफ करेंगे।‘‘

अपनी डेब्यू फिल्म के बारे में बताते हुए अंगिरा धर ने कहा, ‘‘कमांडो 3 मेरी पहली बॉलीवुड फिल्म है और ऐसी फिल्म से अपने सफर की शुरुआत करना एक यादगार अनुभव रहा। इस फिल्म में देश प्रेम के अपने पल हैं, लेकिन अंत में यह फिल्म एक बड़ा संदेश देती है जिसे आपको जरूर देखना चाहिए। इस फिल्म में काफी एक्शन भी है, जिससे हमें दर्शकों की दिलचस्पी बनाए रखने में मदद मिली। मुझे पर्दे पर महिलाओं को मुश्किल एक्शन दृश्य करते देखना बहुत अच्छा लगता है, और मुझे इस बात की खुशी है कि हमें अंततः बॉलीवुड में ऐसे दृश्य करने का मौका मिल रहा है। भारत के दर्शक अब ऐसी फिल्मों को स्वीकार कर रहे हैं जहां महिलाएं सिर्फ बैकग्राउंड का हिस्सा नहीं रहतीं, बल्कि उनके किरदार भी खास रहते हैं। महिलाएं भी एक्शन और भारी भरकम स्टंट करने में सक्षम हैं। यदि आप एक्शन प्रेमी हैं तो कमांडो 3 आपके लिए है। तो 21 जून को एंड पिक्चर्स पर एक्शन से भरपूर इस फिल्म को एंजॉय करना ना भूलें।‘‘

इस फिल्म के जबर्दस्त एक्शन के बारे में बताते हुए विद्युत जामवाल ने कहा, ‘‘मैं इस बेहतरीन फ्रेंचाइज़ का हिस्सा बनकर बेहद खुश हूं। कमांडो फ्रेंचाइज़ की हर फिल्म के साथ हमने एक्शन का स्तर बढ़ाने की कोशिश की है, साथ ही नए सीक्वेंस और स्टंट्स भी प्रस्तुत किए हैं। पहली फिल्म में हमने स्टंट्स में कल्लारीपयट्टू के एक प्रकार को शामिल किया, जबकि दूसरी फिल्म में किरदार की मांग के अनुसार, मुझे अपने शरीर को बढ़ाना पड़ा। अब कमांडो 3 में हम कल्लारीपयट्टू के एक और स्वरूप के साथ लौटे हैं, जिसके लिए मुझे थोड़ा छरहरा दिखाई देना था और शरीर को लचीला बनाना था। यह फिल्म जाति, संप्रदाय और धर्म के भेदभाव मिटाकर सारे देश को जोड़ने और एक बेहतर कल बनाने के बारे में है। यह एक दिलचस्प कहानी है और हमारे डायरेक्टर आदित्य ने इसके लिए बेहतरीन एक्शन की संकल्पना की है, जो इसे एक अलग ही रूप देता है।‘‘

इस फिल्म की कहानी में दिखाया जाता है कि देश में कुछ बड़ी घटना होने की आशंका के चलते मुंबई पुलिस तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार करती है और इस प्रकरण को सुलझाने के लिए उन्हें कमांडो करणवीर सिंह डोगरा को सौंप देती है। आगे की जांच में करण को पता चलता है कि इन आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड लंदन में छिपकर यह गिरोह चला रहा है। इस गिरोह का खात्मा करने के लिए भारत सरकार करण को एक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस भावना रेड्डी के साथ भेजती है। करण की मदद के लिए ब्रिटिश गुप्तचर अधिकारियों – मल्लिका सूद और अरमान को भी इस मिशन में शामिल किया जाता है। दूसरी ओर मास्टरमाइंड बुराक अंसारी, जो अपने निजी स्वार्थ के लिए युवाओं को गुमराह करके आतंकवाद के रास्ते पर धकेल देता है, भारतीय एजेंटों को पकड़कर खत्म करने की फिराक में रहता है। इसके बाद शुरू होती है चूहा बिल्ली की दौड़।

आएगा जब तूफान, कमांडो करण सिंह डोगरा लड़ेगा सीना-तान! देखिए जबर्दस्त एक्शन ब्लाॅकबस्टर फिल्म ‘कमांडो 3‘, इस रविवार 21 जून को रात 8 बजे, सिर्फ एंड पिक्चर्स पर!

Leave a Reply