डीजीजीआई (मुख्यालय) ने गैर-पंजीकृत पान मसाला/गुटखा बनाने की कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज किया

नई दिल्ली : वस्तु एवं सेवा कर खुफिया महानिदेशक, मुख्यालय (डीजीजीआई, मुख्यालय) ने विशिष्ट खुफिया सूचना पर काम करते हुए दिल्ली में चल रहे एक गैर-पंजीकृत पान मसाला/गुटखा कारखाने का खुलासा किया है।

डीजीजीआई ने 25.06.2020 को विभिन्न जगहों की तलाशी ली जिसमें गैर-पंजीकृत फैक्ट्री,गोदाम और इसके मुख्य लाभार्थी के आवास भी शामिल थे। तलाशी के दौरान कर और चुंगी का भुगतान किए बिना पान मसाला/गुटखा की आपूर्ति से संबंधित गुप्त दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद किए गए। इस मामले की प्रारंभिक जांच में अभी 40 करोड़ से अधिक की कर चोरी का खुलासा हुआ है। दिल्ली में गुटखा का विनिर्माण,भंडारण,बिक्री और वितरण प्रदेश सरकार द्वारा प्रतिबंधित है। तलाशी में जब्त किए गए दस्तावेजों से पता चलता है कि यह गैर-पंजीकृत फैक्ट्री लॉकडाउन की अवधि के दौरान उत्पादन कार्य को अंजाम दे रही थी।

गैर-पंजीकृत पान मसाला/गुटखा कारखाने के मुख्य लाभार्थी को 27.06.2020 को सीजीएसटी अधिनियम, 2017 के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया है। उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

Leave a Reply