भाजपा शासन काल में मूणत के लिए चेक पोस्ट अवैध वसूली का अड्डा था..बदनामी के डर से डॉ.रमन सिंह ने बन्द कराई थी-विकास उपाध्याय

रायपुर।कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय ने चेक पोस्ट मामले में पूर्व परिवहन मंत्री राजेश मूणत के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए गंभीर आरोप लगाया है कि मूणत अपने कार्यकाल में बेरियर को भ्रष्टाचार का अड्डा बना कर रख दिया था और बाहरी लोगों को पास मुहैया करा कर उनके माध्यम से करोड़ों की अवैध कमाई करते रहे।

विधायक विकास उपाध्याय पूर्व मंत्री राजेश मूणत के बयान पर आज फिर से एक बार घेरते हुए कई गंभीर आरोप लगाए हैं। विकास उपाध्याय ने कहा मूणत भाजपा शासन काल में दशकों तक बेरियर के माध्यम से करोड़ों रुपए की हेरा फेरी कर अवैध कमाई की और इन चेक पोस्ट में अन्य प्रदेशों आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों को खैरात में पास मुहैया करा कर अवैध वसूली करवाते रहे। इससे शासन को राजस्व कम मूणत को कमीशन ज्यादा मिलता था। इसी के डर के चलते तात्कालीन भाजपा सरकार ने चुनाव में बदनामी न हो जाये के डर से सरकार को मिल रहे राजस्व को भी नजरअंदाज कर बेरियर को बन्द कराना पड़ा था।

विकास उपाध्याय ने छत्तीसगढ़ की अंतरराज्यीय सीमाओं पर चेक पोस्ट दोबारा शुरू किए जाने का स्वागत करते हुए कहा कि भूपेश सरकार की यह पहल छत्तीसगढ़ के राजस्व में वृद्धि के लिए जरूरी था। उन्होंने कहा जिस पत्र की बात मूणत कर रहे हैं दरअसल यह पत्र मूणत जैसे मंत्रियों के लिए था जिसमें राजमार्ग मंत्रालय के सचिव गिरीधर अरमने ने उल्लेख किया है की राज्यों की सीमाओं पर चल रहे चेक पोस्ट एक आर्गेनाइज्ड करप्शन ( संगठित भ्रष्टाचार) को बढ़ावा देने का जरिया है।

विकास उपाध्याय ने चेक पोस्ट के मामले में मूणत से कहा है, उनको इस फैसले को लेकर भूपेश सरकार से न ही सवाल उठाने की जरूरत है न ही चिंता करने की। छत्तीसगढ़ की भलाई किसमें है और इस सरकार को कैसे चलानी है हमारे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भली भांति जानते हैं और उसी के अनुरूप फैसले ले रहे हैं। विकास ने ये भी कहा RTO को कहाँ पर कैसे चेकिंग करनी है या नही करनी है,इसके अधिकारी भली भांति जानते हैं, तो इसके लिए भी मूणत को सिख देने की जरूरत नही है।

Leave a Reply