पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट तो जिंदा जले लोग, हवा में उड़ गए शरीर के परखच्चे

पटाखा

बालाघाट.  जिला मुख्यालय से करीब दस किलोमीटर दूर एक पटाखा फैक्ट्री में बुधवार की शाम करीब चार बजे ब्लास्ट हुआ। इस ब्लास्ट में फैक्टी के अंदर काम कर रहे 27 लोगों के मरने की सूचना मिल रही है। वहीं गम्भीर रूप से घायल तीन मजदूरों को अस्पताल पहुंचाया गया है।

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत खैरी में बजीर स्थाई फटाका लााइसेंस दुकान के नाम से फैक्ट्री का संचालन किया जा रहा था। फटाका फैक्ट्री में बुधवार की शाम करीब 4 बजे अचानक ब्लास्ट हुआ है। इस ब्लास्ट में फै क्ट्री भवन की दीवारों तक के परखच्चे उड़ गए।

ऐसे में फैक्ट्री के अंदर काम कर रहे तीस लोगों में 27 के मरने की बात ग्रामीणों ने कही है।फैक्ट्री के बाहर तीन मजदूर घायल अवस्था में मिले हैं। बताया गया कि यह मजदूर ब्लास्ट के दौरान बाहर आ गिरे।

इधर, हादसे की सूचना मिलते ही दकमल बचाव के लिए पहुंच गई थी। इसके अलावा एसपी, एसडीएम, एएसपी समेत कुछ अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। बचाव कार्य जारी है।उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में भी बालाघाट जिले के किनारपुर में एक अवैध फटाका फैक्ट्री में धमाका हुआ था। उस हादसे में तीन श्रमिकों की मौत हो गई थी। करीब एक दर्जन घायल हुए थे।

500 मीटर तक बिखरे पड़े थे शव, पहचान करने में आ रही मुश्किल

-ग्रामीणों ने बताया कि धमाके के बाद शव आसपास के 500 मीटर के क्षेत्र में बिखर गए।
-हालात इतने भयावह थे कि शवों की पहचान भी मुश्किल हो रही थी। फैक्ट्री में अधिकतर महिलाएं ही काम कर रही थीं। मौके के हालात देखकर ग्रामीण बदहवास से हो गए।
-दमकल वाहन और पुलिस बल के साथ ग्रामीणों ने मिलकर आग को काबू किया इसके बाद शवों को निकाला।
-शव के अंग भंग हो जाने से मृतकों की सही संख्या का पता देर रात तक नहीं चल सका है। वहीं प्रशासन फैक्ट्री में काम करने वालों के नाम पता करने में जुटा रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *