वनांचल में हड़िया तोड़ अभियान का सिलसिला जारी

रायपुर, मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बारिश के मौसम में जलजनित बीमारियों से सुरक्षा के लिए जरूरी उपाय करने के निर्देश दिए हैं। राज्य के दुर्गम एवं आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों में हडिया, महुआ शराब एवं बासी भोजन सहित जहरीली खुखड़ी के प्रयोग पर प्रतिबंध लगाने हड़िया तोड़ अभियान चलाया जा रहा है।
       अम्बिकापुर के मैनपाट जनपद के नर्मदापारा अंतर्गत माझापारा एवं खालपारा क्षेत्र पैगा एवं सुपलगा ग्राम में अनुविभागीय दण्ड़ाधिकारी सीतापुर के नेतृत्व में संयुक्त टीम के द्वारा हड़िया तोडने छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान 7 घरों से हड़िया एवं 3 घरों से महुआ शराब बनाने रखी गई हड़िया को निकालकर बस्ती से दूर फेंकवाया गया। संयुक्त टीम द्वारा इस कार्यवाही के दौरान लोगों को समझाईश दी गई कि हड़िया, शराब, बासी भोजन तथा जहरीली खुखड़ी का सेवन बारिश मौसम में करने से उल्टी-दस्त सहित अन्य प्रकार की बीमारी होती हैं। उन्होंने लोगों को बताया कि बारिश में ढ़ोढी के पानी को उबालकर पीएं तथा ताजे भोजन का ही प्रयोग करें। सर्दी, बुखार सहित अन्य बीमारी हो तो तत्काल मितानिन को सूचित करें और अस्पताल आकर चिकित्सक को बताएं। चिकित्सक द्वारा दिए गए दवाई का सेवन करें।
गौरतलब है कि जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों में हड़िया एवं शराब के अत्यधिक सेवन से बारिश के मौसम में कई बार स्थिति बहुत खराब हुई है। इन घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए विगत दिनों खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत ने अधिकारियों की बैठक में कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा को हड़िया तोड अभियान चलाने कहा गया था। 

Leave a Reply