बिहार : बाढग्रस्‍त क्षेत्रों में राहत और बचाव कार्य तेज

File Photo

पटना : बिहार में बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. सभी नदियों में जल स्टार बढ़ गया है जिसके चलते राज्य में बढ़ की स्थिति भयावह बनी हुई है. राज्‍य के 14 जिलों के 64 लाख से अधिक लोग बाढ से प्रभावित है। बाढ़ का सबसे अधिक असर दरभंगा, मुजफ्फरपुर, समस्‍तीपुर और सीतामढ़ी पर पड़ा है। गंडक, बूढी गंडक और बागमती का पानी कई निचले इलाकों में भर गया है। इन क्षेत्रों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर जाने की सलाह दी गई है। पिछले 24 घंटों के दौरान बाढ़ से जुड़ी दुर्घटनाओं में 36 लोगों की जानें गई हैं। दरभंगा और मुजफ्फरपुर जिले में सबसे अधिक लोगों के हताहत होने की खबर है। गंडक, बागमती, महानंदा और गंगा नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।

बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार लगातार बढ़ की स्थिति पर अपनी नजर बनाए रखे हुए है. मुख्‍यमंत्री नितीश कुमार ने राहत शिविरों में रह रहे लोगों की कोरोना जांच करने का निर्देश दिया है। इन शिविरों में 20 हजार से अधिक लोग रह रहे हैं। राहत और बचाव कार्य तेज कर दिये गये है।

एन डी आर एफ और एस डी आर एफ की 33 टीमें राहत कार्यों में लगाई गई हैं। चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर पहुंचाया जा चुका है। प्रभावित लोगों को भोजन उपलब्‍ध कराने के लिए एक‍ हजार तीन सौ 65 समुदायिक रसोई की व्‍यवस्‍था की गई है। इनके माध्‍यम से दस लाख से अधिक लोगों को भोजन कराया जा रहा है।

Leave a Reply