क्यूबा समझौते रद्द, रिपब्लिकन पार्टी में घमसान

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने क्यूबा के साथ हुए समझौते को एकतरफा करार देते हुए इसे रद्द कर दिया है. इसके साथ ही राष्ट्रपति ट्रंप ने क्यूबा पर यात्रा एवं व्यापार पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है.

शुक्रवार को मियामी में एक रैली को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा, ओबामा सरकार द्वारा क्यूबा पर लगे यात्रा एवं व्यापार प्रतिबंधों में ढील देने से क्यूबा के लोगों को कोई मदद नहीं मिलेगी. राष्ट्रपति ट्रंप की इस घोषणा से उनकी पार्टी रिपब्लिकन में घमसान मच गया है. पार्टी के कई शीर्ष नेताओं ने ट्रंप के फैसले पर नारजगी जतायी है.

ज्ञात हो दो साल पहले ही क्यूबा और अमेरिका के बीच राजनयिक संबंधों की बहाली हुई थी. दिसंबर 2014 में अमेरिका और क्यूबा के संबंधों में सुधार देखने को मिला था. बराक ओबामा ने क्यूबा के साथ संबंध सामान्य रखने का ऐलान किया था.

जुलाई 2015 में अमेरिका और क्यूबा 54 साल के विरोध को छोड़ एक दूसरे के देश में 1961 में बंद हुए अपने दूतावास दोबारा खोलने पर राजी हुए थे. इसके बाद मार्च 2016 में पूर्व राष्ट्रपति बराक आेबामा क्यूबा की यात्रा पर गये थे, जो 1959 के बाद क्यूबा जानेवाले अमेरिका के पहले राष्ट्रपति थे.

पार्टी के शीर्ष सांसदों का कहना है कि क्यूबा पर फिर से प्रतिबंध लगाने से अमेरिका पड़ोस में एक बड़ा बाजार खो देगा. सांसदों ने राष्ट्रपति से इस घोषणा पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है. सांसदों ने गतिरोध कम करने की सलाह दी है, जिससे व्यापार और रोजगार के नये अवसर खुल सकें. सांसदों क्यूबा के खिलाफ सख्त रुख अपनाने की नीति को भटकाव और अलग-थलग करनेवाला करार दिया है.

रिपब्लिकन सांसद रिक क्रॉफोर्ड ने कहा कि ट्रंप ने ग्रामीण अमेरिका के लिए एक बेहतरीन मौका गंवा दिया है. अमेरिका के किसानों के लिए क्यूबा में काफी संभावनाएं हैं. उन्होंने कहा, क्यूबा पर प्रतिबंध लगाने से ईरान, रूस, चीन और उत्तर कोरिया जैसे देशों को क्यूबा में अपनी संभावनाएं तलाशने का अच्छा अवसर मिल जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *