क्राइम : मैक्स लाईफ इंश्योरेंस पाॅलिसी के नाम से देश भर में अब तक 10 करोड़ रूपये से उपर की ठगी करने वाले गिरफ्तार

रायपुर।रायपुर पुलिस ने एक बार फिर से अपनी श्रेष्ठता साबित कर दी है। रायपुर पुलिस ने मैक्स लाईफ इंश्योरेंस पाॅलिसी के नाम से देश भर में अब तक 10 करोड़ रूपये से उपर की ठगी करने वाले 03 अंतर्राज्यीय आरोपियों को लोनी (उ.प्र.) से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के कब्जे से मोबाईल फोन 14 नग, अलग – अलग बैंकों के 15 नग ए.टी.एम. कार्ड, कम्प्यूटर माॅनिटर, कम्प्यूटर प्रिंटर, डेबिड कार्ड, आधार कार्ड, पेन कार्ड, चेक बुक एवं मैक्स सर्विस पाॅलिसी, मैक्स डी टू डी सर्विस पाॅलिसी तथा अन्य इंश्योरंेस पाॅलिसी का डाटा किया गया है जप्त। वही पाकिस इस जांच में जुटी है कि आरोपियों द्वारा बीमा पाॅलिसी कंपनियों की जानकारी एवं डाटा कहां से प्राप्त की जाती है।

घटना के बारे में पुलिस ने बताया कि प्रार्थी तिलक राम साहू ने खमतराई में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह रावाभांठा खमतराई का रहने वाला है तथा खेती किसानी का काम करता है। लगभग 09 माह पूर्व मैक्स लाईफ इंश्योरेंस से पूजा शर्मा और के.के. विश्वकर्मा ने प्रार्थी के इंश्योरेंस पाॅलिसी के बारे में बताया जिसे प्रार्थी ने 2012 में करवाया था। पूजा शर्मा एवं के के विश्वकर्मा द्वारा प्रार्थी को अपने झांसे में लेकर उसके पाॅलिसी संबंधी फायदा बताकर प्रार्थी से चैक के माध्यम से क्रमशः दिनांक 27.11.2019 को राशि 25,900/- रूपये, दिनांक 10.012.2019 को राशि 49,961/- रूपये, दिनांक 10.01.2020 को राशि 1,02,355/- रूपये, दिनांक 14.02.2020 को राशि 2,50,000/- रूपये, दिनांक 06.03.2020 को 2,50,000/- रूपये तथा दिनांक 24.06.2020 को 2,50,000/- रूपये कुल 9,28,216/- रूपये (अक्षरी नौ लाख अट्ठाईस हजार दो सौ सोलह रूपये) प्रार्थी से ले लिए एवं 2,50,000/- रूपये की और मांग कर रहे थे। प्रार्थी एक्सीस बैंक जाकर पता किया तो उसे स्वयं के साथ ठगी होने की जानकारी हुई। जिस पर अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना खमतराई में अपराध क्रमांक 403/20 धारा 420 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

मैक्स इंश्योरेंस पाॅलिसी के नाम से अज्ञात आरोपी द्वारा लाखों रूपये की ठगी करने के प्रकरण को पुलिस उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय श्री अजय कुमार यादव द्वारा गंभीरता से लेते हुये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री लखन पटले, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री तारकेश्वर पटेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध श्री अभिषेक माहेश्वरी एवं प्रभारी सायबर सेल श्री रमाकांत साहू को अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने हेतु आवश्यक निर्देश दिये गये। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में सायबर सेल एवं थाना खमतराई की एक संयुक्त टीम बनाकर अज्ञात आरोपी की पतासाजी प्रारंभ किया गया। टीम द्वारा प्रार्थी से घटना के संबंध में विस्तृत पूछताछ करते हुये प्रार्थी द्वारा मैक्स इंश्योरेंस पाॅलिसी को भेजे गये चेक के संबंध में भी जानकारी प्राप्त किया गया। प्रार्थी से पूछताछ एवं जांच के आधार पर यह प्रतीत हो रहा था कि उक्त घटना को किसी अंतर्राज्यीय गिरोह द्वारा कारित किया गया है। टीम द्वारा आरोपी के मोबाईल नंबरों का तकनीकी विश्लेषण करते हुये बैंक से आरोपी के संबंध में दस्तावेज भी एकत्र किये गये। तकनीकी विश्लेषण एवं दस्तावेजों के आधार आरोपियों की उपस्थिति दिल्ली में होना पाया गया। जिस पर टीम को दिल्ली रवाना किया गया। टीम द्वारा दिल्ली में आरोपियों की पतासाजी प्रारंभ किया गया तथा लगातार 15 दिनों तक कैम्प करते हुये टीम के सदस्यों द्वारा आरोपियों को चिन्हांकित करने एवं आरोपियों द्वारा जिस स्थान में ठगी करने हेतु हाईटेक आॅफिस संचालित किया जा रहा था की पहचान सुनिश्चित किया गया तथा टीम द्वारा रेड कार्यवाही कर प्रकरण में आरोपी मोह0 असलम, मोह0 इलयास एवं धीरज कुमार को पकड़ने में सफलता मिली। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वे लोग मैक्स सर्विस पाॅलिसी, मैक्स डी टू डी सर्विस पाॅलिसी तथा अन्य इंश्योसेंस कंपनी का डाटा प्राप्त कर लेते है जिससे आरोपियों को पाॅलिसी धारकों की सभी जानकारी आसानी से प्राप्त हो जाती है तथा जिनकी पाॅलिसी की परिपक्वता पूर्ण होने वाली रहती है उन पाॅलिसी धारकों को आरोपी फोन कर उनकी पाॅलिसी के संबंध में संपूर्ण जानकारी पाॅलिसी धारकों को देते हुये पाॅलिसी की रकम को दोगुना करने का झांसा देकर उनका भरोसा प्राप्त कर लेते है जिससे पाॅलिसी धारक उनके झांसे में आ जाते है तथा आरोपियों द्वारा रकम की मांग करने पर पाॅलिसी धारक आरोपियों को रकम दे देते है। आरोपी स्वयं की पहचान छिपाने की नियत से पाॅलिसी धारकों से रकम नगद या बैंक एकाउंट में न मंगाकर चेक के माध्यम से कोरियर कराकर रकम प्राप्त करते है। आरोपियों द्वारा दिया गया पता, जी.एस.टी. नंबर एवं मोबाईल नंबर पूर्ण रूप से फर्जी होता है तथा इनके द्वारा ठगी करने के लिये एक बार ही मोबाईल नंबर का उपयोग किया जाता है एवं उस मोबाईल नंबर उपयोग पुनः नहीं किया जाता है। सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से मोबाईल फोन 14 नग, अलग – अलग बैंकों के 15 नग ए.टी.एम. कार्ड, कम्प्यूटर माॅनिटर, कम्प्यूटर प्रिंटर डेबिड कार्ड, आधार कार्ड, पेन कार्ड, चेक बुक एवं मैक्स सर्विस पाॅलिसी, मैक्स डी टू डी सर्विस पाॅलिसी एवं अन्य इंश्योरंेस पाॅलिसी का डाटा जप्त किया गया है। आरोपियों द्वारा उक्त बीमा पाॅलिसी कंपनियों की जानकारी कहां से प्राप्त की जाती है के संबंध में विस्तृत पूछताछ की जा रही है। आरोपियों द्वारा ठगी के रूप में उपयोग किये जाने वाले दर्जनभर से अधिक बैंक खातों की जानकारी पुलिस को मिली है साथ ही आरोपियों द्वारा रायपुर के अतिरिक्त बेमेतरा, राजनांदगांव एवं बालोद के लोगों से भी इस तरह की ठगी की गई है। अन्य जिन लोगों के साथ भी मैक्स इंश्योरेंस पाॅलिसी के नाम से ठगी हुई हो, वे रायपुर पुलिस से संपर्क कर सकते है। आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही की जा रही है।
गिरफ्तार आरोपी

  1. मोह0 असलम पिता मोह0 उमर उम्र 27 साल निवासी न्यू शीलपुर थाना शीलपुर दिल्ली।
  2. मोह0 इलयास पिता मोह0 मुक्तार अहमद उम्र 28 साल निवासी न्यू शीलपुर थाना शीलपुर दिल्ली।
  3. धीरज कुमार पिता भगवान दत्त उम्र 32 साल निवासी निशांत इन्क्लेव पावी पोस्ता चैकी थाना लोनी गाजियाबाद (उ.प्र.)।

Leave a Reply