स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला ने इंग्लिश मीडियम स्कूल का किया निरीक्षण


इंग्लिश मीडियम स्कूलों को शुरू करने की तैयारियों की डॉ. शुक्ला ने की समीक्षा

रायपुर, स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला आज कोरबा जिले मंे तीन जगहों पर खुलने वाले इंग्लिश मीडियम स्कूलों के बारे में कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल एवं डीईओ श्री सतीश पाण्डेय से जानकारी ली। डॉ. शुक्ला ने जिले में तीन इंग्लिश मीडियम स्कूलों का निरीक्षण कर स्कूल परिसर के साथ शिक्षा व्यवस्था के लिये की जा रही तैयारियों का जायजा लिया। उन्होनें स्कूल परिसर में निर्मित भवनों की स्थिति कक्षा रूम बनाये गये भवनों की आधारभूत संरचना तथा स्कूल में साफ-सफाई, स्कूल शुरू करने की प्रक्रिया के अंतर्गत विषयवार शिक्षकों की नियुक्ति और छात्रों के दाखिले के बारे में भी जानकारी ली।

प्रमुख सचिव ने स्कूलों की सुविधाओं और आधारभूत संरचनाओं के साथ-साथ विद्यार्थियों की पढ़ाई के लिए अब तक किए गए इंतजामों के पावर पॉईंट प्रजेंटेशन का भी अवलोकन किया। डॉ.शुक्ला ने जिला प्रशासन की तैयारियों को देखते हुये कहा कि यह मॉडल स्कूल ना केवल कोरबा बल्कि छत्तीसगढ़ का सबसे बढ़िया स्कूल बने, यही हमारी अपेक्षा और आकंाक्षा है। डॉ. शुक्ला ने हरदीबाजार स्थित शासकीय कन्या हायर सेकण्डरी स्कूल और पाली के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पहुंचकर प्रस्वावित इंग्लिश मीडियम स्कूलों की तैयारियों का जायजा लिया।

डॉ. शुक्ला ने कहा कि शहर में इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू करने के लिये महापौर का सहयोग अद्धितीय है। उन्हांेने आशा जताई की नगर निगम प्रशासन तथा जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयासों से कोरबा का यह स्कूल पूरे प्रदेश का सबसे बेहतरीन इंग्लिश मीडियम स्कूल बनेगा। डॉ. शुक्ला ने पंप हाउस स्कूल में स्थापित हो रही लाइब्रेरी तथा विज्ञान विषयों की प्रयोगशालाओं को पूरी प्लानिंग के साथ बारिकियों का ध्यान रखते हुये तैयार करने को कहा। उन्होने लाइब्रेरी में विद्यार्थियों के लिये विषयों से संबंधित किताबांे के साथ-साथ नैतिक शिक्षा, मनोरंजन आदि से संबंधित किताबें, कहानी संग्रह, कॉमिक्स आदि भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। प्रमुख सचिव ने रसायन, जीवविज्ञान और भौतिक विज्ञान प्रयोग शालाओं में जरूरत के हिसाब से उपकरण रखने, स्पेसीमेन रखने तथा विद्यार्थियों के सुगम आवागमन के लिये भी पर्याप्त स्थान रखने के भी निर्देश दिये।

डॉ. शुक्ला ने इसके बाद हरदीबाजार और पाली में शुरू होने वाली इंग्लिश मीडियम स्कूलों के लिये स्थल निरीक्षण किया और वास्तुविद से चर्चा कर उपलब्ध भवनों तथा आधारभूत संरचनाओं का बेहतर ढंग से उपयोग करने की योजना प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। डॉ. शुक्ला ने कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल से कहा कि तीनों स्कूलो को प्रारंभ करने के लिये भवन आदि बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर्याप्त है। उन्होने कहा कि पहले चरण में आगामी दो माह में सभी तैयारियां पूरी कर स्कूलों को शुरू करने के लिये काम तेज करें। डॉ. शुक्ला ने हरदीबाजार के स्कूल में विधायक श्री पुरूषोत्तम कंवर से भी मुलाकात की और स्कूल स्थापना के लिये सहयोग करने का आग्रह किया। पाली के स्कूल में भी डॉ. शुक्ला ने सांसद श्री प्रशांत मिश्रा से स्कूल को जल्द से जल्द शुरू करने के लिये हर संभव सहयोग की मांग की।

डॉ. शुक्ला ने किया मोहल्ला क्लासेस का निरीक्षण
डॉ. शुक्ला ने आज अपने कोरबा प्रवास के दौरान कोरोना काल मेें बच्चों की पढ़ाई के लिये चलाई जा रही मोहल्ला क्लासेस का अवलोकन किया। उन्होने हरदीबाजार संकुल के सुवामोड़ी की प्राथमिक शाला, रैकी की माध्यमिक शाला तथा नुनेरा संकुल की बांधाखार पूर्व माध्यमिक शाला की मोहल्ला क्लासेस का निरीक्षण किया। डॉ. शुक्ला ने इन कक्षाओं में विद्यार्थियों से संवाद किया। उन्होंने विद्यार्थियों से किताबे पढ़वाकर उनके अक्षर ज्ञान को परखा। प्रमुख सचिव ने बच्चों से गिनती, जोड़-घटाना, गुणा-भाग आदि के सवाल भी किये। डॉ. शुक्ला ने बच्चों को चित्रों, मॉडलों, कहानियों के माध्यम से पढ़ाने के सरल-सुगम तरीकों की तारीफ की और इस कोरोना महामारी के दौरान बच्चों को सावधानी पूर्वक पढ़ाने पर शिक्षकों की हौसला अफजाई भी की। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ कुंदन कुमार, नगर निगम के आयुक्त एस. जयवर्धन और जिला शिक्षाधिकारी सतीश पाण्डेय मौजूद रहे।

Leave a Reply