मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री ने 1587 करोड़ की नर्मदा उद्वहन सिंचाई परियोजना का किया भूमि पूजन

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को धार जिले के बदनावर क्षेत्र के कोटेश्वर में 1587 करोड़ रुपए की नर्मदा माइक्रो उद्ववहन सिंचाई परियोजना का भूमि-पूजन किया। इसके साथ ही 313.28 करोड़ के अन्य विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन भी किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोटेश्वर की पवित्र धरती पर जब मैं पिछली बार आया था, तब यहाँ के लोगों ने माँ नर्मदा के पानी की मांग की थी। कोटेश्वर में नर्मदा का जल लाना मुश्किल था, लेकिन असंभव नहीं। आज नर्मदा माइक्रो उदवहन सिंचाई परियोजना का भूमिपूजन किया गया है, शीघ्र ही क्षेत्र को नर्मदा जल मिलेगा और इस क्षेत्र की बहुप्रतीक्षित मांग भी पूरी हो सकेगी। योजना का कार्य पूर्ण होने के पश्चात माँ नर्मदा के पानी से सबसे पहले कोटेश्वर महादेव का अभिषेक किया जाएगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि बदनावर क्षेत्र क़े जो गाँव इस योजना में बच गए हैं उन्हें भी दूसरे चरण में जोड़कर नर्मदा का जल पहुँचाया जाएगा। किसानों को कोई समस्या आने नहीं देंगे। मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना में छूटे हुए पात्र हितग्राहियों को ढूंढ-ढूंढ कर उनका नाम जुड़वाकर उन्हें राशन उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि आपको मुझ पर विश्वास है तो विकास में कोई कसर नहीं छोडूंगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पूर्व सरकार द्वारा प्रदेश में जो योजनाएं बन्द कर दी गई थीं उनमें से अधिकांश योजनाएं पुनः चालू कर दी गई हैं। कोरोना काल खत्म होने के बाद बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन पर भी भेजा जायेगा।

राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि बदनावर क्षेत्र से पुराना रिश्ता है। मंत्री श्री दत्तीगांव यहां के विकास एवं प्रगति में कोई कमी नहीं आने देंगे। मुख्यमंत्री चौहान ने विकास तथा प्रगति की लंबी लकीर खींची है। प्रदेश के किसानों को किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत लाभान्वित किया जा रहा है। नर्मदा के पानी से यहां के खेत पंजाब की तरह लहलहाऐंगे। इस माइक्रो उदवहन परियोजना से बदनावर क्षेत्र की 50 हजार हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी।

इस अवसर पर औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने कहा कि आज मुख्यमंत्री चौहान हमारे बीच नर्मदा का जल ला रहे हैं। क्षेत्र के उत्पादों को देश-विदेश के कोने-कोने तक पहुँचाया जाएगा। उन्होंने बताया कि बदनावर क्षेत्र में दो हजार करोड़ रूपये से अधिक के निवेश का प्रस्ताव है। जिससे विकास के साथ-साथ लोगों को रोजगार मिलेगा। श्री दत्तीगांव ने मुख्यमंत्री श्री चौहान से बदनावर क्षेत्र के ग्राम तिलगारा में आईटीआई कॉलेज, बदनावर में कृषि महाविद्यालय, केसूर में महाविद्यालय तथा कोद में सीएससी की स्थापना के साथ ही कोटेश्वर को तीर्थस्थल के रूप में विकसित किये जाने की मांग की।

प्रारम्भ में अतिथियों द्वारा माँ नर्मदा की मूर्ति का पूजन कर नर्मदा के जल से मूर्ति का अभिषेक, कोटेश्वर मंदिर में पूजा-अर्चना तथा कन्या पूजन भी किया गया। इस अवसर पर पशुपालन, सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण मंत्री श्री प्रेमसिंह पटेल, सांसद श्री छतर सिंह दरबार, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मालती मोहन पटेल, धार विधायक श्रीमती नीना विक्रम वर्मा सहित जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply