भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीमों का प्रशिक्षण जारी

नई दिल्ली : भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीमों का प्रशिक्षण बेंगलुरु के नेताजी सुभाष दक्षिणी केंद्र में फिर से शुरू हो चुका है, क्योंकि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लगाए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के चलते अभ्यास सत्र रोक दिया गया था। खिलाड़ी अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में जल्द ही वापस लौटने की उम्मीद कर रहे हैं और प्रशिक्षण केंद्र में अपनाए गए सुरक्षा उपायों से संतुष्ट हैं।

पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सहित टीम के छह खिलाड़ी नेशनल कैंप के लिए यहां पहुंचने के बाद कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव पाए गए थे। उन्हें भारतीय खेल प्राधिकरण-साई केंद्र और कोविड अस्पताल में हर प्रकार की सहायता और उचित देखभाल प्रदान की गई तथा स्वस्थ होने के बाद सभी ने अभ्यास सत्र में हिस्सा लेना शुरू कर दिया है। मनप्रीत ने कहा कि, वह कोरोना जांच में वायरस से संक्रमित पाये गए थे और जब वह प्रशिक्षण पर वापस लौटे, तो उन्होंने धीरे-धीरे फिर से खेलने की प्रक्रिया शुरू की। उन्होंने कहा कि, कोचों ने इस संबंध में योजना बनाई है ताकि सभी खिलाड़ी धीरे-धीरे अपनी लय में पूरी तरह से वापस लौट आएं और वे फिर से अभ्यास करके खुश हैं। कोरोना वायरस प्रकोप को रोकने के लिए साई केंद्र में सक्रिय कदम उठाए गए हैं, यहां खिलाड़ियों के क्वारन्टीन होने के दौरान उनके आगमन पर ज़रूरी परीक्षण किये जाते हैं।

भारतीय पुरुष टीम के मुख्य कोच ग्राहम रीड ने कहा कि, कौशल प्रशिक्षण खासकर बुनियादी व्यक्तिगत जरूरी चीजों पर ध्यान रख कर दिया जा रहा है। इससे खिलाड़ियों को छोटे समूहों में अभ्यास करने की सहूलियत होती है, जिसमें पर्याप्त सामाजिक दूरी होती है। उन्होंने कहा कि, विभिन्न विषयों के लिए जारी साई मानक संचालन प्रक्रिया का उपयोग करते हुए हम अगले कैंप के आखिर तक दल के अधिकांश खिलाड़ियों के अभ्यास के दौरान कार्यभार और तीव्रता को चरणबद्ध तरीके से उस स्तर तक बढ़ा सकते हैं जो कि, कोविड-19 के कारण आई रूकावट से पहले था। उन्होंने कहा कि, यह एक धीमी और सुविचारित प्रक्रिया है जो चोट के जोखिम को कम करते हुए अधिकतम आउटपुट के लिए तैयार की गई है।

महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने कहा कि, साई के बैंगलोर केंद्र में खिलाड़ियों के लिए सुनिश्चित किए गए सुरक्षा प्रोटोकॉल से वे सभी प्रसन्न हैं। उन्होंने कहा कि, अच्छा लगता है कि हमने इतने लंबे समय के बाद अभ्यास शुरू किया है और हम धीरे-धीरे अपने शरीर को उसी स्तर पर वापस ला रहे हैं जो हमें पहले की तरह ट्रेनिंग करने की अनुमति देता है। इसके साथ ही जो भी सुरक्षा प्रोटोकॉल हैं, हम उनका पालन कर रहे हैं और उम्मीद है कि अगले कुछ महीने में हम पहले की तरह लय हासिल कर लेंगे। फिलहाल, यह अहम है कि हम सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अपने आप को सुरक्षित रखें और उसके तहत ही अभ्यास करें।

पुरुष और महिला दोनों हॉकी टीमों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

Leave a Reply