महिला स्व सहायता समूह ने मुख्यमंत्री का जताया आभार

अर्जुनी – कहते हैं कि घर की महिला अगर शिक्षित होती है तो पूरे परिवार की महिलाएं शिक्षित हो जाती है और परिवार जब शिक्षित होती है तो पड़ोसी शिक्षित हो जाती है और इससे प्रेरित होकर पूरे गांव शिक्षित हो जाती है यह कहना है महिला कांग्रेस के महिला प्रदेश सचिव  सरिता वर्मा का ! उक्त जारी विज्ञप्ति में   कहा कि किसी भी गांव शहर या प्रदेश में महिलाओं को आगे बढ़ाने में सरकार मदद करती है तो उस गांव शहर या प्रदेश को आर्थिक रूप से आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता! इसी कड़ी में  वर्मा ने कहा कि गांव गांव शहर शहर एवं प्रदेश में हजारों महिला स्व सहायता समूह पंजीकृत है लेकिन विगत 15 वर्षों से भाजपा शासनकाल में इन समूहों के महिला बहनों को शासन की योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाया यही कारण है कि प्रदेश में महिला स्व सहायता समूहों की बहनों की  आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब एवं दयनीय है!     श्रीमती वर्मा ने अपने विज्ञप्ति में बताया कि अभी छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी गोधन  योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए गौठानो में गोबर खरीदी के साथ ही महिला स्व सहायता समूहों को वर्मी खाद उत्पादन का प्रशिक्षण देकर आर्थिक रूप से संपन्न बनाने का महत्वपूर्ण कार्य कर प्रशिक्षण दिया जा रहा है इसके लिए मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल जी को पत्र लिखकर बधाई एवं आभार व्यक्त करते हुए मांग किया कि पूरे प्रदेश में वर्मी कंपोस्ट उत्पादन के साथ-साथ मशरूम उत्पादन मुर्गी पालन मछली पालन पापड़ अचार अगरबत्ती एवं दोना पत्तल आदि बनाने का प्रशिक्षण महिला स्व सहायता समूह को देकर आर्थिक रूप से संपन्न बनाने में सहयोग करने की निवेदन किया है! सरिता वर्मा ने पत्र में यह भी उल्लेख की है कि राष्ट्रीय आजीविका मिशन( एन आर एल एम) के माध्यम से महिलाओं को जोड़कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने तथा महिला सशक्तिकरण की दिशा में महिलाओं को आगे बढ़ाने में सहयोग प्रदान करने की मांग की है!       पत्र में माननीय मुख्यमंत्री  को धन्यवाद ज्ञापित किया है की महिलाओं को आगे बढ़ाने में छत्तीसगढ़ शासन महत्वपूर्ण कार्य कर रही है प्रदेश कांग्रेस महिला सचिव होने के नाते पूरे प्रदेश की महिलाओं एवं स्व सहायता समूहों की ओर से धन्यवाद ज्ञापित करती हूं!

Leave a Reply