नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी (आप) ने विपक्ष की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार को अपना समर्थन देने का फैसला किया है। नई दिल्ली में शनिवार को पार्टी के नेताओं के बीच विचार-विमर्श के बाद यह फैसला लिया गया। आप के एक वरिष्ठ नेता ने आईएएनएस से कहा, “पार्टी के नेताओं के बीच विचार-विमर्श के बाद हमारी पार्टी ने राष्ट्रपति पद के लिए मीरा कुमार का समर्थन करने का फैसला किया है।”

पार्टी सूत्रों ने कहा कि मीरा कुमार का समर्थन करने के अलावा, उनके पास कोई विकल्प नहीं था, क्योंकि पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ नहीं जाना चाहती थी। आप का कुल वोट शेयर 9,000 है, क्योंकि दिल्ली व पंजाब में उसके कुल 87 विधायक तथा पंजाब में चार सांसद हैं और राष्ट्रपति चुनाव में कुल मतों के एक फीसदी से भी कम है।

बता दें कि एनडीए ने रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया है, जबकि यूपीए की तरफ से मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाया गया है। जेडीयू ने रामनाथ कोविंद को समर्थन का एलान किया है, जबकि 17 विपक्षी दलों ने मीरा कुमार को समर्थन देने का एलान किया है। अब आप ने भी मीरा कुमार को समर्थन देने का एलान किया है।

कुल 95 लोगों ने 108 नामांकन पत्र दायर किए थे

लोक सभा सूत्रों के अनुसार कुल 95 लोगों ने 108 नामांकन पत्र दायर किए थे। रामनाथ कोविंद और मीरा कुमार ने चार-चार सेट पर्चे भरे थे। 93 लोगों के पर्चे अलग-अलग कारणों से रद्द हो गए और केवल रामनाथ कोविंद और मीरा कुमार का पर्चा ही वैध पाया गया। 35 लोगों का नामांकन इलेक्टोरल रोल की प्रमाणित प्रति संलग्न न होने के कारण रद्द कर दिया गया। गुरुवार (28 जून) को बाकियों के नामांकन 50 प्रस्तावकों और 50 द्वितीय प्रस्तावकों के नाम होने से निरस्त हो गए। कुछ लोग 15 हजार रुपये की जमानत राशि जमा नहीं जमा किए थे।