हिज्बुल सरगना सलाहुद्दीन के इंटरव्यू से बेनकाब हुआ पाकिस्तान

नई दिल्ली: आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के पाकिस्तानी मीडिया को दिए इंटरव्यू पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई है. भारत ने कहा है कि पाकिस्तान तय करे कि उसकी जमीन का इस्तेमाल कोई आतंकवादी न करे. भारत ने कहा कि सलाहुद्दीन को अमेरिका द्वारा अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करना बिल्कुल सही है. अपने इंटरव्यू में सलाहुद्दीन ने माना कि उसने आतंकियों को पैसे भेजे हैं.

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से अपने आतंकी संगठन का संचालन करने वाले सलाहुद्दीन ने पाकिस्तानी चैनल जियो टीवी से कहा कि उसने भारत में कई ‘ऑपरेशन्स’ को अंजाम दिया है और दावा किया कि वह भारत में कभी भी, किसी भी जगह हमला कर सकता है. उसने कहा कि इन आतंकी हमलों के लिए पाकिस्तान में हथियार हासिल करना उसके लिए आसान है.

भारत ने सलाहुद्दीन के भारत विरोधी बयानों की निंदा करते हुए कहा है कि उसके भाषण ही उसके आतंकवादी होने का सबसे बड़ा सबूत है. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता अशोक प्रसाद ने कहा कि भारत बहुत पहले ही सलाहुद्दीन को आतंकवादी बता चुका है और अब अमेरिका ने भी उसके कामों के मुताबिक ही उसे ‘वैश्विक आतंकवादी’ का माकूल ‘तमगा’ दिया है. उन्होंने कहा कि सलाहुद्दीन की तकरीरों में इस्तेमाल हाने वाली भाषा भारत द्वारा उसे पहले ही आतंकवादी करार दिए जाने का सटीक प्रमाण है.

उन्होंने कहा कि अमेरिका ने सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकवादी का जो तमगा दिया है, वह उसके लिए सर्वथा योग्य है. प्रसाद ने कहा कि सलाहुद्दीन कश्मीर में अलगाववादियों और आतंकवादियों को धन और अन्य संसाधन मुहैया कराने का अहम माध्यम रहा है. 1 जुलाई को उसने सार्वजनिक तौर पर इस बात का ऐलान भी किया है कि उसके संगठन के पास भारत में हमले कराने की भरपूर क्षमता है. इससे पहले 27 जून को अमेरिका ने उसे वैश्विक आतंकवादी करार दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *