हड़ताल में ना जाए श्रमिक कंपनी ने की अपील

बिलासपुर देश के विभिन्न श्रमिक संगठनों द्वारा 26 नवंबर को देशव्यापी हड़ताल का आयोजन किया गया है इस संबंध में एचपीसीएल ने श्रमिकों से आग्रह किया है कि वह इस हड़ताल से ना जाएं उन्होंने कहा है कि देश के स्वर्णिम विकास के लिए काम करना जरूरी है उन्होंने श्रमिकों से हड़ताल के निर्णय पर पुनर्विचार करने की अपील भी की है इसके साथ ही कहा है कि हड़ताल में ना जाकर देश के स्वर्ण विकास में भागीदार।

इधर देश के 10 श्रमिक संगठनों द्वारा बुलाई गई हड़ताल को लेकर कोल इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने हड़ताल को अवैध करार दिया है और श्रमिकों से हड़ताल में ना शामिल होने की अपील की है कोयला उद्योग में बीएमएस को छोड़ एचएमएस, सीटू, एटक, इंटक सहित अन्य यूनियन हड़ताल की तैयारी में जुटी हुई है। कोल इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने हड़ताल को अवैध करार दिया है। इधर, मंगलवार को एसईसीएल सीएमडी एपी पण्डा ने अपील जारी की। श्री पण्डा ने कहा कि श्रमिकों का हड़ताल पर जाना न तो मजदूर हित में है, न कंपनी हित में और न ही देश हित में। उन्होंने हड़ताल के निर्णय पर पुनर्विचार करने की अपील की। जारी की अपील

Leave a Reply