देवघर को इंटरनेशनल टूरिज्म सेंटर बनायेंगे : रघुवर दास

देवघर : वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला-2017 का रविवार को रंगारंग शुभारंभ हुआ. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने विधिवत मेले का उदघाटन किया. वहीं, बासुकिनाथ में मेले का उदघाटन गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने किया. झारखंड प्रवेश द्वार दुम्मा में उदघाटन समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा : मैं भी कांवर लेकर सात बार बाबाधाम आया हूं. बाबा के आशीर्वाद से ही राज्य का मुख्य सेवक बनने का मौका मिला. कांवर यात्रा में जात-पात, ऊंच-नीच का भेदभाव नहीं रहता, सामाजिक एकता दिखती है. यह मेला परस्पर सहयोग और भाईचारे की भावना को जगाता है. उन्होंने कहा : देवघर अध्यात्म व टूरिज्म का केंद्र है.

आनेवाले समय में नौलखा, तपोवन, त्रिकुट, बासुकिनाथ, मलूटी आदि को मिला कर आध्यात्मिक टूरिज्म सर्किट बनायेंगे. इस दिशा में सरकार काम कर रही है. आधुनिक सुविधा से लैस करके श्रावणी मेला और भगवान शिव की इस नगरी को इंटरनेशनल टूरिज्म सेंटर बनायेंगे.
सत्ता सेवा का माध्यम है, भोग का साधन नहीं : मुख्यमंत्री ने कहा : सत्ता सेवा का माध्यम है, भोग का साधन नहीं. राज्य की जनता की आकांक्षा को पूरा कर सकें, बाबा बैद्यनाथ से यही कामना है. उन्होंने कहा : जिला प्रशासन हर सुविधा कावरियों को उपलब्ध करा रहा है. शहर के एक-एक लोग बाबाधाम आनेवाले श्रद्धालुओं की सेवा को आगे आयें. हर साल श्रद्धालुओं की सुविधा में बढ़ोतरी हो रही है. इन सुविधाओं की मॉनिटरिंग सही तरीके से हो, ताकि देवघर आनेवाले भक्त सुखद संदेश लेकर जायें.

62 करोड़ की योजना का सीएम ने किया उदघाटन-शिलान्यास : श्रावणी मेले के उदघाटन के दौरान सीएम रघुवर दास ने दुम्मा (देवघर) में 62 करोड़ की योजना का उदघाटन व शिलान्यास किया. इसमें 11.50 करोड़ की लागत से शिवगंगा जल शोधन संंयंत्र का उदघाटन भी शामिल है.
शिकायत का 12 घंटे के अंदर होगा समाधान : मुख्यमंत्री ने कहा : सरकार सभी प्रकार की सुविधाएं मुहैया करा रही है. फिर भी किसी को समस्या है, उसका समाधान नहीं हो रहा है, तो आप सीधे फेसबुक और ट्विटर पर शिकायत करें. आपकी शिकायत का समाधान 12 घंटे के अंदर होगा. यही नहीं, जिला प्रशासन समस्या का समाधान करके आपको सूचित भी करेगा. इस अवसर पर अतिथियों का स्वागत और मेले में प्रशासन की तैयारियों व सुविधाओं की जानकारी डीसी राहुल कुमार सिन्हा ने दी. वहीं नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव अरुण कुमार सिंह ने देवघर के संदर्भ में नगर विकास विभाग की योजनाओं की जानकारी दी.

आज से बाबा का स्पर्श पूजा बंद, पूरे महीने अरघा से होगा जलार्पण : श्रावणी मेला शुरू होते ही सोमवार से बाबा की स्पर्श पूजा बंद हो जायेगी, जो पूरे सावन भर रहेगी. सोमवार अहले सुबह 03:05 बजे मंदिर का पट खुलते ही पुरोहित समाज की ओर से कांचा जल पूजा की जायेगी. इसके तुरंत बाद अरघा लगा कर सरकारी पूजा संपन्न कराया जायेगा. इसके उपरांत आम भक्तों कतारबद्ध तरीके से अरघा के माध्यम से जलार्पण शुरू कर देंगे.

क्यू कॉम्प्लेक्स में कतार लगना शुरू : भीड़ कंट्रोल करने के लिए क्यू कॉम्प्लेक्स का उपयोग प्रारंभ हो गया.पहले दिन इसमें कांवरियों को कतारबद्ध तरीके से जलार्पण के लिए ब्रिज के माध्यम से बाबा मंदिर भेजने की व्यवस्था को लागू कर दिया गया.

भक्तों की सुविधा के लिए रास्ते में बिछाया गया मेट : जिला प्रशासन ने कांवरियों की सुविधा के लिए सड़क पर मेट बिछाया है. इससे कांवरियों को बरसात में जहां सुखद अनुभव होगा, वहीं अधिक गरमी में भी पैरों में जलन का अनुभव नहीं होगा.

मुख्यमंत्री रघुवर दास, नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, श्रम मंत्री राज पलिवार, कृषि मंत्री रणधीर कुमार सिंह, सांसद निशिकांत दुबे, विधायक नारायण दास ने श्रावणी मेले का वैदिक मंत्रोच्चार व पूजन के साथ उदघाटन किया. फीता काट कर कांवरियों का मार्ग खोला गया. मुख्यमंत्री ने रंग-बिरंगे गुब्बारे आकाश में छोड़े.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *