पटना : बिहार में सत्तारूढ़ राजद और जदयू में जारी तनातनी के बीच उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने महागठबंधन को अटूट करार दिया है. नीतीश कुमार की अगुआई में बुधवार को कैबिनेट की हुई बैठक के बाद तेजस्वी ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों पर सफाई दी.

उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि मेरे खिलाफ आरोप तब के लगाये गये हैं, जब मैं बच्चा था और मूंछ तक नहीं आयी थी. तेजस्वी ने कहा कि केंद्र सरकार एक 28 साल के नौजवान से डर गयी है. भाजपा न केवल लालू परिवार, बल्कि पूरे बिहार को बदनाम करने की साजिश रच रही है. उन्होंने कहा, हमने गरीबों की बात की, किसानों की बात की, प्रधानमंत्री के किये गये वादों को लेकर बातचीत की, हम पिछड़े परिवार से हैं, इसलिए हमें सजा दी जा रही है.

तेजस्वी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के नाम लेकर केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाये. भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर तेजस्वी ने कहा, जब हम बड़े हो गये, हमारे पास सत्ता आयी, तो हमने कोई भ्रष्टाचार नहीं किया. अपने बड़े भाई तेजप्रताप यादव के साथ कैबिनेट की बैठक में आये तेजस्वी ने कहा कि जब हमारी उम्र 13-14 साल की थी, उस समय हम कैसे घोटाला कर सकते हैं. उन्होंने भाजपा पर राजनीतिक साजिश रच कर मुकदमे में फंसाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि 2004 में हमारी मूंछ भी नहीं आयी थी, 13-14 साल का बच्चा कैसे यह सब कर सकता है.

तेजस्वी ने कहा कि यह पूरा मामला 2004 का है और उस वक्त हमारे पास न तो पावर था और न ही पद. तेजस्वी ने दावा किया कि सारे नौजवान हमारे साथ खड़े हैं. अमित शाह और नरेंद्र मोदी को जवाब दिया जायेगा और बिहार से ही नहीं, बल्कि पूरे देश से भाजपा का सफाया कर दिया जायेगा.

तेजस्वी ने कहा कि जनता ने मुझे चुन कर भेजा है, मैं जनता के बीच जाऊंगा और सारी बातों को कहूंगा. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में हम भी जीरो टाॅलरेंस की नीति पर चलते हैं. हम पीएम को उनके वादे नहीं निभाने की याद दिलाते हैं, हम बार-बार इस बात को बोलते रहे हैं, इसी बात की सजा दे रहे हैं. पद पर बने रहने के दौरान हमने कोई गलत काम नहीं किया है. हमारे कार्यकाल में यह हुआ भी नहीं है. मुझे इस बात की जानकारी भी नहीं है. महागठबंधन तोड़ने की साजिश है. उन्होंने कहा कि भाजपा मेरे पिता लालू प्रसाद से भी भयभीत थी. अब मेरे जैसे नौजवान से भी डरने लगी है. इसलिए पॉलिटिकल षड्यंत्र रचा गया है. महागठबंधन तोड़ने की कोशिश ये शुरू से ही कर रहे हैं.

महागठबंधन को बताया अटूट मीडिया पर बरसे
उपमुख्यमंत्री ने दोहराया कि महागठबंधन अटूट है और आगे भी चलता रहेगा. महागठबंधन में फूट की खबरों को लेकर उन्होंने मीडिया पर ही ठीकरा फोड़ दिया और कहा कि भाजपा माइंड सेट वाली मीडिया को महागठबंधन की मजबूती दुखी कर रही है.