पटना। महागठबंधन में चल रही खींच-तान के बीच राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पटना पहुंच चुके हैं। यहां 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर राजद नेताओं के साथ उनकी बैठक हुई। बैठक के दौरान प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी भी पहुंचे। इसके बाद उन्‍होंने कहा कि तेजस्‍वी के इस्‍तीफे का सवाल ही नहीं पैदा होता। उसे जनता ने जिताया है तो फिर इस्तीफा देने का सवाल कहां पैदा होता है।

लालू यादव चारा घोटाले मामले में कोर्ट में पेश होने तीन दिनों के लिए रांची गये थे। लेकिन दूसरे ही दिन शुक्रवार की शाम वे वापस पटना लौट गये हैं।

वे रांची से शाम साढ़े पांच बजे की इंडिगो की फ्लाइट से पटना वापस अा चुके हैं और अपने आवास पर पहुंच चुके हैं। दरअसल, चारा घोटाला मामले में गवाह की पेशी न होने कारण शनिवार को होने वाली पेशी टल गई है। इस कारण वे आज की शाम ही पटना लौट आये।

लालू यादव के आवास पर राजद नेताओं का जमावड़ा लगा। राजद नेता रघुनाथ झा, अबू दोजाना जगदानंद, मुंद्रिका, पूर्वे, अलोक मेहता, अख्तरुल शाहीन, मुनेश्वर चौधरी राबड़ी आवास पहुंच चुके हैं। भारी संख्‍या में समर्थकों की मौजूदगी भी राबड़ी आवास पहुंचे।

बता दें कि जदयू ने तेजस्‍वी के मुद्दे पर राजद को 4 दिनों के भीतर फैसला करने का अल्‍टीमेटम दिया है। अल्‍टीमेटम का आज तीसरा दिन है।

राजद ने पहले से ही कहा है कि तेजस्वी इस्तीफा नहीं देंगे। राजद तेजस्वी को पद पर बनाए रखकर महागठबंधन को बचाने की पूरी कोशिश करेगा राजद। जो भी निर्णय होगा सोमवार को होगा और तेजस्वी को अगर इस्तीफा देना पड़ा तो राजद के सारे मंत्री भी सामूहिक इस्तीफा देंगे।

यह भी खबर आयी थी कि तेजस्वी ने अब सरेंडर करने का मन बना लिया है और लालू यादव के रांची से पटना लौटते ही इस मामले पर अंतिम मुहर लग सकती है और उसके बाद तेजस्वी यादव अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं। लेकिन इसके बाद तेजस्‍वी ने ट्वीट कर इस्‍तीफे की संभावना को सिरे से नकार दिया।

बीच-बचाव की मुद्रा में कांग्रेस
आने वाले 24 घंटे में बिहार में बड़े राजनीतिक उठापटक होने की संभावना है। पटना लौटते ही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी से लालू यादव से मिलने 10 सर्कुलर रोड पहुंचे। वहां से निकलने के बाद उन्‍होंने कहा कि महागठबंधन अटूट है। किसी तरह का मतभेद नहीं है। वे यहां पोलिंग एजेंट का फार्म लेकर आये थे।

प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष ने यह भी कहा कि राष्‍ट्रपति चुनाव पर 16 को होटल मौर्या में बैठक है। बैठक में लालू को भी बुलाया गया है। फिलहाल वे तेजस्‍वी के मामले पर बचते हुए नजर आये। कहा कि इस्‍तीफे के मुद्दे पर किसी तरह की बात नहीं हुई है।

कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के निर्देश के बाद प्रदेश काग्रेस सक्रिय हो गया है। सोनिया गांधी ने खुद लालू यादव और नीतीश कुमार से फोन पर बात की है। उनके निर्देश पर प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी ने सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात की है। दूसरी ओर जदयू प्रवक्‍ताओं को भी सोंच-समझकर बोलने का निर्देश दिया गया है।