ऊधमपुर : जम्मू से अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना हुई बस बनिहाल के नाचिलाना इलाके में खाई में जा गिरी। हादसे में 16 श्रद्धालुओं की मौैत हो गई। 10 ने मौके पर ही दम तोड़ दिया और छह घायलों की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। हादसे में 30 श्रद्धालु घायल हुए हैं। तीन श्रद्धालु लापता बताए जा रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक जम्मू से रवाना हुआ श्रद्धालुओं का जत्था रामबन से गुजर रहा था। ज्यादातर वाहन गुजर चुके थे। 15 से 20 वाहन पीछे थे। रविवार को दिन में करीब पौने दो बजे यात्रा जत्थे की बस (जेके02वाई-0594) रामबन के नाचिलाना इलाके को पार कर रही थी। अचानक बस अनियंत्रित होकर सड़क से 100 फीट नीचे खाई में जा गिरी। बस चट्टानों से टकराते हुए खाई में गिरी। हादसे के फौरन बाद मौके पर सेना, स्थानीय लोगों व वाहन चालकों ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया।

सूचना मिलते ही पुलिस व ट्रैफिक पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। सभी बचाव कार्य में जुट गए। शवों को खाई से बाहर निकाल बनिहाल जिला अस्पताल के शवगृह में रखवाया गया। गंभीर रूप से घायल छह यात्रियों ने बनिहाल अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया। घायलों में से 19 को एयरलिफ्ट कर मेडिकल कॉलेज जम्मू तथा आठ को सौरा मेडिकल कॉलेज श्रीनगर रेफर किया गया। दो घायलों का उपचार बनिहाल सरकारी अस्पताल में चल रहा है। घटना के बाद जम्मू कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा और पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) शेषपाल वैद भी बनिहाल पहुंचे। उन्होंने राहत और बचाव कार्य का जायजा लिया।

मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामबन बस हादसे में मारे गए अमरनाथ यात्रियों के परिजनों के लिए मुआवजे की घोषणा की। मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख और गंभीर रूप से घायलों को पचास-पचास हजार रुपये दिए जाएंगे।