छत्तीसगढ़ में भारी वर्षा की संभावना अलर्ट जारी

रायपुर| केन्द्रीय गृह मंत्रालय नई दिल्ली से छत्तीसगढ़ सरकार को आज मिले फैक्स संदेश में बताया गया है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र निर्मित होने की वजह से अगले 24 घण्टे के भीतर छत्तीसगढ़ के कुछ इलाकों में भी भारी वर्षा की चेतावनी दी गई है। गृह मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ सहित मध्यप्रदेश, ओड़िशा, आंध्रप्रदेश और तेलांगाना राज्य के मुख्य सचिवों को प्रेषित फैक्स संदेश में इन राज्यों में भारी वर्षा की संभावना व्यक्त की है और अपने परामर्श में जनजीवन की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। इसमें कहा गया है कि सभी जिलों में प्रशासन को स्थिति पर लगातार निगाह रखने के निर्देश दिए जाएं। इस बीच मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भी आज दोपहर यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर राज्य के सभी जिलों में की जा रही राहत और आपदा प्रबंधन की अग्रिम तैयारियों की समीक्षा की।

मुख्यमंत्री ने समीक्षा के दौरान बस्तर अंचल के कुछ इलाकों में विगत चौबीस घण्टे से लगातार हो रही बारिश को ध्यान में रखते हुए बस्तर संभाग के कमिश्नर और बस्तर कलेक्टर से टेलीफोन पर स्थिति की पूरी जानकारी ली। डॉ. सिंह ने उन्हें नदी नालों के जल स्तर पर लगातार निगाह रखने, जिला स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष को चौबीसों घण्टे चालू रखने, राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और डॉक्टरों और पैरामेडिकल कर्मचारियों की टीम को तैयार रखने तथा संभावित बाढ़ पीड़ितों के लिए अस्थायी राहत शिविर बनाने के भी निर्देश दिए। केन्द्रीय गृह मंत्रालय से आज छत्तीसगढ़ सरकार को मिले फैक्स संदेश के अनुसार नई दिल्ली में गृह मंत्रालय ने आपदा प्रबंधन के लिए एक कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसका टेलीफोन नम्बर 011-23093563 और 23093564 तथा टेलीफैक्स नम्बर 23093750 और 23092398 है।

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने संबंधित राज्यों को जारी एडवाईजरी में यह भी बताया है कि बंगाल की खाड़ी के उत्तर पश्चिम और पश्चिम में तथा ओड़िशा के समुद्र तटवर्ती इलाकों में कम दबाव का क्षेत्र निर्मित हुआ है, जो ओड़िशा में गोपालपुर से 120 किलोमीटर और पूरी से 80 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में केन्द्रित था। इसके फलस्वरूप दक्षिण ओड़िशा के कुछ स्थानों पर अगले 48 घण्टों में और आंध्रप्रदेश के उत्तरी तटवर्ती इलाकों में 24 घण्टे में भारी वर्षा होने का पूर्वानुमान लगाया है। गृह मंत्रालय ने यह भी कहा है कि अगले 48 घण्टे के भीतर छत्तीसगढ़ के भी कुछ इलाकों में भारी वर्षा हो सकती है। तेलांगाना और उत्तरी ओड़िशा में अगले 48 घण्टे के भीतर तथा पूर्वी मध्यप्रदेश में 19 और 20 जुलाई को और पश्चिमी मध्यप्रदेश में 20 और 21 जुलाई को भारी वर्षा की संभावना व्यक्त की गई है। इसी कड़ी में अगले 48 घण्टे के भीतर ओड़िशा और उत्तरी आंध्रप्रदेश के तटवर्ती इलाकों में प्रतिघण्टे 40 से 50 किलोमीटर अथवा 60 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवाएं चलने का भी पूर्वानुमान व्यक्त किया है। इस दौरान मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *