गडकरी ने वाहन निर्माताओं से ईंधन के लचीले विकल्पों वाले वाहनों का निर्माण करने को कहा

File Photo

नई दिल्ली : केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्यम मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कार निर्माताओं से फ्लेक्स इंजनों के स्वदेशी उत्पादन को प्राथमिकता देने का आग्रह किया हैताकि उनका उपयोग इथेनॉल जैसे वैकल्पिक ईंधन से चलने वाले वाहनों में किया जा सके। सोसाइटी ऑफ इंडिया ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (एसआईएएम) से जुड़े कार निर्माताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ आज एक मुलाकात के दौरान केन्द्रीयमंत्री श्री गडकरीने कहा किदेश में इथेनॉल के आसानी से उपलब्ध होने और 70% से अधिक गैसोलीन की खपत दोपहिया वाहनों द्वारा किये जाने की वजह से फ्लेक्स ईंधन वाले वाहनों के लिए स्वदेशी तकनीक विकसित करने की जरुरत है।

बैठक में एसआईएएम द्वारा बीएस 6 सीएएफई द्वितीय चरण के विनियमों के कार्यान्वयन को 1 अप्रैल 2024 तक स्थगित रखने के अनुरोध को लेकर भी चर्चा हुई। कार निर्माताओं ने यह अनुरोध इस आधार पर किया है कि कार उद्योग अभी भी कोविडके प्रभाव से उबर ही रहा हैऔर उपभोक्ताओं की मांग धीमी है। कार निर्माताओं के इस अनुरोध पर विचार करने के लिए सहमत होते हुए, श्री गडकरी ने उन्हें यह स्पष्ट किया कि भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग में विश्वस्तरीय गुणवत्ता होनी चाहिएऔर यदि यह उद्योगवाहनों का निर्यात किये जाने वाले देशों में प्रदूषण विरोधी मानकों का अनुपालन कर रहा है, तो उनके द्वारा भारत में भी इन मानकों का अनुपालन किया जाना चाहिए।

केन्द्रीय मंत्री नेबीएस 6 सीएएफई द्वितीय चरण के विनियमों के कार्यान्वयन को स्थगित रखनेकी मांग पर अंतिम निर्णय लिए जाने से पहले कार निर्माताओं के प्रतिनिधिमंडल को अगले महीने बीएस VI चरण I मानकों को पूरा करने के लिए वाहन उद्योग द्वारा उठाए गए कदमों और बीएस VI सीएएफई चरण II मानकों की दिशा में आगे बढ़ने के वित्तीय निहितार्थों के बारे में एकविस्तृत अध्ययन के साथ आने को कहा है।

Leave a Reply