उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में जल जीवन मिशन को लेकर संयुक्त राष्ट्र परियोजना सेवा कार्यालय ने डेनमार्क के साथ साझेदारी की

नई दिल्ली : संयुक्त राष्ट्र परियोजना सेवा कार्यालय (यूएनओपीएस) ने विश्व जल दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश में केंद्र सरकार के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम, जल जीवन मिशन की मदद करने के लिएडेनमार्क सरकार के साथ एक साझेदारी की।डेनमार्क सरकार और यूएनओपीएस के बीच इस साझेदारी का उद्देश्य जल जीवन मिशन (जल कार्यक्रम) के लिए रणनीतिक तकनीकी सहायता प्रदान करना है।यूएनओपीएस जल की कमी से जूझ रहेउत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र स्थित 11 जिलों में मापने योग्यडिलीवरी मॉडल स्थापित करने पर ध्यान केंद्रित करेगा। यह जल जीवन मिशन के संचालन संबंधित दिशानिर्देशों में निर्धारित प्राथमिकताओं के अनुरूप होगा।

यूएनओपीएस और डेनमार्क के दूतावास के बीच समन्वय के माध्यम से यह सुनिश्चित किया जाएगा कि जल जीवन मिशन पर साझेदारी और द्वीपक्षीय भारत-डेनमार्क सहयोग पारस्परिक रूप से एक-दूसरे का समर्थन करें और जल जीवन मिशन के लक्ष्यों की प्राप्ति में सहायता के लिए एक-दूसरे को मजबूत करें।यूएनओपीएस इन जिलों में अपने संसाधनों को विशेष रूप से सामुदायिक एकत्रीकरण, क्षमता निर्माण और प्रशिक्षण आदि के क्षेत्र में उपयोग करेगा, जो एकसमयबद्ध तरीके से हर घर को नल जल कनेक्शन प्रदान करने के मिशन के लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता करेगा।

जल जीवन मिशन का लक्ष्य 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार को कार्यात्मक घरेलू नल कनेक्शन प्रदान करना है। यह संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्य-6 के अनुरूप है।पिछले कुछ वर्षों में भारत सरकार और नागरिक समाज के साथ सभी स्तरों पर यूएनओपीएस की साख को देखते हुए इसका रणनीतिक महत्व है कि डेनमार्क सरकार और यूएनओपीएस के बीच यह सहयोग मिशन के उद्देश्यों को प्राप्त करने को लेकर सार्थक प्रभाव डालेगा।

Leave a Reply