रायपुर: मुख्यमंत्री डॉ रमन ंिसह से आज यहां शाम उनके निवास परिसर में हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत रायपुर और नया रायपुर के अध्ययन भ्रमण पर आए बिलासपुर, जांजगीर -चांपा और मुंगेली जिले पंचायत प्रतिनिधियों ने सौजन्य मुलाकात की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे छत्तीसगढ़ं का स्वरूप अनूठा है। यहां विविध संस्कति के लोग निवास करते हैं। उनके बोली-भाषा और त्यौहार मंे भी विविधता है। इसकी महत्वपूर्ण जानकारी इस योजना से पंचायत प्रतिनिधियों को मिलता है। उन्हें राज्य शासन और केन्द्र शासन की योजनाओं की जानकारी मिलती है। इनके पारदर्शिता से क्रियान्वन करने की जिम्मेदारी पंचायतों प्रतिनिधियों पर ही है। इसका क्रियान्वन जमीनी स्तर पर जितने अच्छे से होगा उतना ही जनता को लाभ पहुुचेगा।

जनप्रतिनिधि जितना जनता के बीच जाएंगे, उतना ही उनके समस्याओं की जानकारी मिलेगी और उनका समाधान कर पाएंगे। उन्होंने कहा – लोक सुराज अभियान के तहत जब जनता के मध्य जाने पर ही वहीं पर अनेक शासकीय योजनाओं का निर्माण हुआ है। मुझसे बूजुर्गो द्वारा तीर्थयात्रा कराने की इच्छा व्यक्त करने पर मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना बनाई गई। जिसके तहत कई बूजुर्गो तीर्थ स्थानों की यात्रा कर चुके हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि 14 साल में छत्तीगढ़ राज्य में अनेको परिवर्तन आए है और विकसित राज्य बन गया है। इस अवसर पर 420 पंचायत प्रतिनिधि उपस्थित थे। जिनमें बैगा बहुल पंचायत के पंच प्रतिनिधि भी शामिल हे।