पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक नया खुलासा करते हुए कहा कि भागलपुर  में सरकारी खजाने के पैसे को काफी तेजी से फर्जी व्यवसाय के माध्यम से  दूसरी जगह ट्रांसफर किया जा रहा है. यह छोटा-मोटा  मामला नहीं, बल्कि 250 से अधिक करोड़ का फर्जीवाड़ा है.
फिलहाल यह केवल एक जिले का मामला है. इसकी जांच जारी है और जल्द ही इसके नतीजे  सामने आयेंगे. साथ ही उन्होंने बालू माफिया पर भी हमला बोला. वे बुधवार को पटना के ज्ञान भवन में बिहार पृथ्वी दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे. इस दौरान मुख्यमंत्री ने ‘लालच भारत छोड़ो’ का नारा दिया. सीएम ने कहा कि बालू माफिया को जितना बालू खोदने का टेंडर मिलता है,  उससे ज्यादा बालू निकालते हैं. इसमें धंधेबाजी हो रही है. यदि इसके खनन की सीमा दो मीटर या एक मीटर  होती है, तो वे उससे ज्यादा खुदाई करते हैं. इसकी निगरानी करने वाले भी  उनसे मिल जाते हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में बहुत  घोटालेबाज हो गये हैं. पता नहीं ये कहां-कहां से आ गये हैं.
मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे महात्मा गांधी ने नौ अगस्त को कहा था कि  ‘अंग्रेजो भारत छोड़ो’, वैसे ही आपलोग भी कहिए ‘लालच भारत छोड़ो’. इसका कारण यह है कि पृथ्वी हमारी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम है, लेकिन लालच को पूरा करने में सक्षम नहीं है. लालच में पड़ कर इसका दोहन करना खतरनाक है. वहीं, लालची प्रवृत्ति समाज से दूर होगी, तो यहां खुशहाली, प्रेम और भाईचारा का विकास होगा.
गाद का समाधान जल प्रवाह से संभव 
गंगा में गाद की समस्या को गंभीर बताते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि इसके प्रबंधन पर अध्ययन किया जा रहा है. केंद्र और राज्य सरकार काम कर रही है. एक कमेटी बनायी गयीहै. इसके समाधान के बारे में उन्होंने कहा कि हमारी नजर में जल प्रवाह द्वारा ही गाद का समाधान हो सकता है.