लखनऊ. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नमामि गंगे जागृति यात्रा को मुख्यमंत्री आवास से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. इस यात्रा के माध्यम से गंगा के किनारों पर सफाई को लेकर जागृति फैलाई जाएगी. साथ ही गंगा में मिलने वाले नाले से होने वाले प्रदूषण को रोकने के प्रयास किए जाऐंगे. मिली जानकारी के अनुसार गंगा के किनारे बसे 25 जिलों के 108 ब्लॉक में यह यात्रा पहुॅंचेगी.

यात्रा 11 अगस्त को हरिद्वार स्थित हर की पौड़ी पहुॅंचेगी. जिसके तहत लोगों को गंगा को सहेजने और इसे शुद्ध रखने के तरीके बताऐ जाऐंगे. लोगों से खुले में शौच न जाने की अपील की जाएगी. इसके लिए होमगार्ड का सहयोग लिया जाएगा. इस अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि संगम तट पर वर्ष 2019 में कुंभ का आयोजन होगा. सरकार समाधान लेकर आएगी.

वह समस्या नहीं लाई है. उन्होंने कहा कि गंगा की अविरलता को बनाए रखना बेहद जरूरी है यह प्राचीन सभ्यता के लिए आवश्यक है. मिली जानकारी के अनुसार 125 किलोमीटर के तट पर लगभग 1 करोड़ 30 लाख वृक्ष लगाकर सरकार ने प्रतिबद्धता दिखाई है.

यात्रा के शुभारंभ अवसर पर चिदानंद सरस्वती, मंत्री सुरेश खन्ना, मंत्री आशुतोष टंडन, अनिल राजभर, डीजी होमगार्ड सूर्य शुक्ला आदि मौजूद थे.