मुख्यमंत्री सस्ती दवा दुकान योजना के क्रियान्वयन के संबंध में हुई बैठक

नगरीय निकायों में चरणवार शुरू होगी योजना, उच्च गुणवत्ता की जेनेरिक दवाइयां सस्ती दरों पर होंगी उपलब्ध

कोरिया! वैश्विक महामारी में कोरोना संक्रमण में शहरी स्वास्थ्य अधोसंरचना के साथ साथ विभिन्न जाँचो, दवाइयों आदि की सुलभ एवं सस्ती व्यवस्था की आवश्यकताओ को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के नागरिको को उच्च गुणवत्ता की जेनेरिक दवाइयां सस्ती दरों पर सुलभता से उपलब्ध कराए जाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री सस्ती दवा योजना प्रारम्भ की जा रही है।

कलेक्टर श्री श्याम धावड़े की अध्यक्षता में हुई बैठक में आज शासन द्वारा जारी मुख्यमंत्री सस्ती दवा दुकान योजना के दिशा निर्देश एवं कार्यान्वयन के विषय मे चर्चा हुई। उन्होंने बताया कि शासन के निर्देशानुसार योजना का क्रियान्वयन समस्त नगरीय निकायों में जिला स्तरीय अरबन पब्लिक सर्विस सोसायटी(यूपीएसएस) के माध्यम से किया जाएगा। तथा इसके लिए यथासंभव चिकित्सालय परिसर अथवा उसके निकट क्षेत्र चिन्हांकित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

राज्य स्तर पर योजना के क्रियान्वयन हेतु राज्य शहरी विकास अभिकरण(सूडा) नोडल एजेंसी होगी एवं सूडा द्वारा ही नोडल अधिकारी नामंकित किया जाना बताया गया। जिला स्तर पर योजना की मॉनिटरिंग अर्बन पब्लिक सर्विस सोसाइटी द्वारा की जाएगी।
इस योजना के क्रियान्वयन से नागरिकों को उनके निवास स्थान के पास ही रियायती दरों पर जेनरिक दवाओं को क्रय करने का अवसर मिलेगा और महँगी ब्राण्डेड दवाओं पर उनकी निर्भरता कम होगी। उच्च गुणवत्ता की दवाइयां कम दरों पर उपलब्ध हो सकेंगी। इस योजनांतर्गत वन विभाग द्वारा संचालित संजीवनी दुकानों में बिक्री होने वाली दवाइयों और सामग्रियों को भी अनिवार्य रूप से शामिल किया जाएगा, जिससे वन औषधियों के उत्पादकों तथा लाखों वनोपज संग्राहकों की आय में वृद्धि हो सकेगी।

Leave a Reply