बिहान के संकुल स्तरीय संगठनों को व्यवसायिक दृष्टिकोण अपनाकर कार्य करना होगा-सीइओ

राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान के तहत एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यशाला संपन्न

कोरिया! बिहान के तहत महिलाओं के स्व सहायता समूहों का गठन करने के पीछे शासन की स्पष्ट मंषा है कि महिलाओं के आजीविका के स्थायी साधन बन सकें और उनके पारिवारिक जीवन स्तर में सुधार हो सके। इसके लिए जरूरी है कि समूह की गतिविधियों को आजीविका के अच्छे व्यवसायों में जोड़ा जाए। यह तभी संभव है जब समूहों के संकुल स्तरीय संगठन पूरी तरह से व्यवसायिक दृष्टिकोण बनाकर अपने कार्य को संपादित करें। उक्ताषय के विचार जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री कुणाल दुदावत ने ग्रामीण आजीविका मिषन बिहान की एक दिवसीय कार्यषाला के दौरान व्यक्त किए। सोमवार को जिला पंचायत के मंथन कक्ष में सहायक विकास विस्तार अधिकारियों की बिहान टीम के विकासखण्ड परियोजना प्रबंधकों के साथ एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यषाला आयोजित की गई। इस कार्यषाला को संबोधित करते हुए जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री दुदावत ने कहा कि आप सभी राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिषन बिहान के तहत अच्छा कार्य कर रहे हैं जिले में अब तक 6 हजार 300 से ज्यादा स्व सहायता समूहों के माध्यम से 63 हजार से ज्यादा महिलाओं को समूहों की गतिविधियों में जोड़ लिया गया है। अब आपको यह सुनिष्चित करना होगा कि हमारे ग्रामीण क्षेत्रों में गठित महिलाओं के प्रत्येक स्व सहायता समूह को एक निष्चित स्वरोजगार का साधन मिल सके। इसके लिए संकुल स्तरीय संगठनों को अपनी गतिविधियों को तेज करना होगा। नागपुर संकुल जैसे अन्य संकुल संगठनों को भी ज्यादा से ज्यादा महिलाओं के स्वरोजगार की व्यवस्था करनी होगी।
बिहान के तहत आयोजित इस उन्मुखीकरण कार्यशाला में ग्रामीण आजीविका मिषन बिहान के मैदानी अधिकारियों का उत्साहवर्धन करते हुए जिला पंचायत सीइओ ने कहा कि अब तक जिले में 40 हजार महिलाओं को उनके स्वरोजगार को स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की गई है। इनके संगठन को आकार देते हुए 20 संकुल संगठन सक्रियता से कार्य कर रहे हैं जिनके अधीन 300 से ज्यादा ग्राम संगठन स्व सहायता समूहों के लिए मजबूत कड़ी का कार्य कर रहे हैं। इस उन्मुखीकरण कार्यषाला का मुख्य उद्देष्य यही है कि आप सभी स्व सहायता समूहों के लिए निष्चित आय के साधन बनाने में उनकी मदद करें। इस कार्यषाला में बिहान के जिला मिषन प्रबंधक श्री रामेन्द्र सिंह गुर्जर की टीम ने प्रतिभागियों को सामुदायिक क्षमतावर्धन, वित्तीय समावेषन, आजीविका में सुधार, अभिसरण और रोजगारोन्मुखी प्रषिक्षण जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर प्रषिक्षण प्रदान किया। पावर पाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रतिभागियों को प्रत्येक विषय पर विस्तार से जानकारी देकर लक्ष्य के अनुरूप कार्य करने के लिए प्रेरित किया गया। इस कार्यशाला में बिहान की जिला टीम के सभी सदस्य उपस्थित रहे।

Leave a Reply